प्रतिबंधित आम के पेड़ों की धड़ल्ले से हो रही कटाई!

बलिया(संजय कुमार तिवारी): पकड़ी थाना क्षेत्र के चकजिया में धड़ल्ले से हरे पेड़ो की कटाई जोरोपर चल रही हैं। हरे पेड़ो की कटाई पर प्रतिंबन्ध के बाद भी धड़ल्ले से हरे पेड़ काटे जा रहे हैं।आम के हरे पेड़ की कटाई से जिला प्रशासन बेख़बर हैं। आम के पेड़ की धड़ल्ले से काटने के बाद लोगो में चर्चा का विषय बना हुआ हैं कि आम के हरे पेड़ प्रतिबंधित होने के बाद भी आम की बगीचों को धड़ल्ले से कटाई की जा रही हैं। थाने से महज तीन किलोमीटर की दुरी पर आम के हरे पेड़ काटे जा रहे हैं पुलिस मूकदर्शक बनकर बैठी हैं और बन विभाग के कर्मचारी हाथ पर हाथ रखे बैठे हैं।लेकिन इस लकड़ी काटने वालो के विरुद्ध कार्यवाही नही किया जा रहा हैं। लकड़ी काटने वालों के हौशला इतने बुलंद हुए हैं कि कही भी हरे पेड़ो की कटाई करने से गुरेज नही कर रहे हैं। वही लकड़ी काटने वालो ने कहा कि हमलोग हरे पेड़ो की कटाई के लिए पेड़ के एवज में लगभग पांच हजार रूपये तक देते हैं। जिससे कही भी पेड़ मिलेंगे तो कटाई करने में कोई दिक्कत नही हैं। इस लिए लकड़ी काटने वालों की योगी सरकार में बल्ले बल्ले हो रही हैं।ऐसे में योगी सरकार बन विभाग के कर्मचारियों और पुलिस विभाग के कर्मचारियों पर कार्यवाही करेंगे या ऐसे ही धड़ल्ले से होगी प्रतिबंधित होने के बाद पेड़ो की कटाई।या सरकार बनी रहेगी मूकदर्शक।