कन्याओं ने दिया कोरोना से बचाव का संदेश

वाराणसी: वैश्विक महामारी कोरोना के प्रकोप से देश उबर नहीं पा रहा है। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए स्वास्थ्य मंत्रालय भारत सरकार द्वारा धर्म-कर्म के कार्यों में भी विशेष एहतियात बरते जाने की अपील की जा रही है । इस कारण मां आदिशक्ति की उपासना का नवरात्र पर्व भी इस वर्ष बिना किसी चकाचौंध के मनाया जा रहा है । चैत्र नवरात्र पर नमामि गंगे ने देवी दुर्गा स्वरूपा नौ कन्याओं का पूजन किया । कन्याओं को हलवा / पूडीं / चने की घुघंरी और मिष्ठान्न का भोग लगाया गया, दक्षिणा और उपहार दिए गए।पूजन के दौरान कोरोना से बचाव का संदेश देते हुए कन्याओं में मास्क और सेनेटाइजर का वितरण हुआ । देवी दुर्गा स्वरूपा कन्याओं ने हाथों में तख्तियां लेकर “मास्क ही हमारा ब्रह्मास्त्र” का संदेश दिया.

टीका भी जरूरी मास्क भी जरूरी दो गज की दूरी भी जरूरी की अपील की गई।पर्यावरण संरक्षण हेतु सिंगल यूज़ प्लास्टिक का उपयोग न करने का आग्रह किया।नमामि गंगे के संयोजक राजेश शुक्ला ने कहा कि, नवरात्र पर माता दुर्गा स्वच्छता का भी संदेश देती हैं।दुर्गा स्वरूपा नौ कन्याओं का पूजन कर कोरोना महामारी गंगा प्रदूषण व प्लास्टिक से मुक्ति एवं आत्मनिर्भर भारत की कामना की गई है।नवरात्र पर कोरोना से बचाव हेतु हमें सावधानी और सजगता रखनी होगी उन्होंने कहा की, कोरोना से बचाव के लिए दो विकल्प हैं, “पहला टीका” और “दूसरा मास्क” वैक्सीन लगवाने के बाद भी हम सभी के लिए मास्क बहुत जरूरी है।आयोजन में दुर्गा स्वरूपा नौ कन्याओं सहित काशी प्रांत के संयोजक राजेश शुक्ला उपस्थित थे।