बछवाड़ा में चोरों का तांडव जारी, रातभर जगे रहना लोगों की विवशता

बेगूसराय(राकेश कुमार यादव): थाना क्षेत्र में लगातार हो रही चोरी घटना की घटना से इलाके में दहशत का माहौल है. दिन प्रति दिन बढ़ती चोरी कि घटना को लेकर आमलोगो में भय का माहौल है. थाना क्षेत्र के गोविन्दपुर तीन पंचायत के सूरो गांव में शुक्रवार कि रात अज्ञात चोऱ ने दीवार फ्लांगकर आंगन के रास्ते घर में घुसकर पेटी,बक्सा व अटैची का ताला तोड़कर लगभग तीन लाख रुपये का जेबर,मोबाइल समेत बाबन हजार रुपये नगद लेकर फरार हो गया.घटना कि सूचना परिजनो द्वारा बछवाड़ा थाना को दिया गया.सूचना मिलते ही बछवाड़ा थाना कि पुलिस ने घटना स्थल पर पहुंचकर चोरी की घटना की जांच की. मामले को लेकर पीड़ित सूरो गांव निवासी स्व दिनेश्वर राय का पुत्र नवीन कुमार राय ने बछवाड़ा थाना में आवेदन देकर अज्ञात चोरो के खिलाफ शिकायत की है. उन्होने अपने आवेदन में कहा है कि शुक्रवार की शाम अन्य दिनो कि तरह सपरिवार खाना खाकर सो गये. मंगलवार की सुब उठे तो घर में समान इधर उधर बिखरा परा था और घर में रखा पेटी,बक्सा,अटैची सभी गायब था. इधर उधर काफी खोजबीन करने पर घर के पीछे खेत में लगा फसल के बीच दो जगह पेटी बक्सा और अटैची का ताला टुटा हुआ और कुछ कपड़ा इधर उधर बिखरा परा था. जब अपने पेटी बक्सा व अटैची में रखा सोने का बाली,चैन,टीका, मंगल सुत्र,नथिया समेत करीब छः भरी जेबर व 52 हजार रुपया नगद,कपड़ा समेत दो मोबाइल गायब था. नोकिया का मोबाइल में स्वास्थ्य विभाग का सरकारी सीम लगा था वही कार्बन कम्पनी का मोबाइल में जेनरल सीम लगा था. उन्होंने बताया कि हमें शंका है कि शुक्रबार की रात अज्ञात चोरो ने आंगन का दीवार फ्लांग कर आंगन के रास्ते घर में घुसा और घर में रखा पेटी,बक्सा व अटैची समेत मोबाइल सभी लेकर फरार हो गया. बताते चले कि 10 मई को गोविन्दपुर तीन पंचायत के हिरायचक निवासी मनोज चौधरी के घर सेंन्धमारी कर पांच लाख नब्बे हजार रुपये का जेबर अज्ञात चोर चोरी कर फरार हो गया, बछवाड़ा रेलवे स्टेशन परिसर से 22 मई की रात अज्ञात चोरो ने रेल परिचान से संम्बन्धित रिले लगभग छः लाख का चोरी कर फरार हो गया. दिनाक 3जून कि रात अज्ञात चोरो ने बछवाड़ा बाजार स्थित ब्रहमदेव दास के हाडवेयर की दुकान का ताला तोड़कर नगद समेत हजारो रुपये का समान लेकर फरार हो गया.ग्रामीणों का कहना है कि इलाके मे हो रही चोरी की घटना में स्थानीय प्रशासन के द्वारा कागजी खानापूर्ति की जा रही है. चोरी होने के उपरांत पीड़ित द्वारा दिये गये आवेदन फाइल में दबकर रह जाता है. जिस कारण आज तक एक भी चोरी की घटना का उदभेदन नही किया गया और इलाके के चोरो का मनोबल इतना बढ़ा हुआ है कि बैखौफ होकर चोरी करने के बावजूद प्रशासन की नजर में नही आता है।