उत्पाद की विक्री हेतु बनाये गए मार्केटिंग स्ट्रेटजी और प्लांनिग की महत्वपूर्ण भूमिका

बलिया(संजय कुमार तिवारी): राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक नाबार्ड के तत्वावधान में माँ सुरसरी सेवा संस्थान कथरिया द्वारा सियर ब्लॉक के बिरभानपुर ग्राम में चयनित स्वयं सहायता समूह की 30 महिलाओं को सुक्ष्म उद्यमिता विकास कार्यक्रम एम ई डी पी की के अंतर्गत ड्रेस डिजाइनिंग वस्त्र निर्माण पर 15 दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन 16 जून से 30 जून तक चल रहा हैं,कार्यक्रम के दौरान प्रतिभागियों के बीच प्रशिक्षण के उपरांत प्रतिभागियों द्वारा उत्पादित उत्पाद के सफल मार्केटिंग हेतु आज अतिथि के रूप में पधारें प्रमुख उद्यमी विजय कुमार के साथ आज प्रतिभागियों के लिए मार्केटिंग स्ट्रेटजी और प्लानिंग पर जानकारी देने के लिए विशेष सत्र का आयोजन किया गया, प्रमुख उद्यमी विजय कुमार ने प्रतिभागियों को अपने उत्पाद को मार्केट में बिक्री के लिए महत्वपूर्ण जानकारियां देने का कार्य किए, उन्होंने बताया कि किसी भी कार्य की सफलता व्यवसायी द्वारा अपने उत्पाद की विक्री हेतु बनाये गए मार्केटिंग स्ट्रेटजी और प्लांनिग की महत्वपूर्ण भूमिका होती है, संस्था के सचिव डॉ सुधीर कुमार सिंह ने सभी का स्वागत करते हुए कहा कि प्रशिक्षण पर चर्चा करते हुए कहा कि प्रतिभागियों द्वारा भविष्य में उनको समाज में अपनी एक अलग पहचान बनाने का कार्य करेंगा,साथ ही इनकी सफलता दूसरी महिलाओं के लिए प्रेरणा स्रोत बनेंगी,साथ ही इस कार्यक्रम के माध्यम से निश्चित ही अपनी आमदनी में वृद्धि कर अपना तथा अपने परिवार का भरण पोषण करने में सहायक होंगी, कार्यक्रम की उपयोगिता पर चर्चा करते हुए प्रशिक्षक मंजू देवी ने कहां की प्रतिभागी महिलाओं के आत्मनिर्भर बनने की प्रक्रिया में यह कार्यक्रम अत्यंत उपयोगी सिद्ध होगा, इस दौरान प्रमुख उद्यमी राकेश कुमार और अवधेश सिंह ने अपने अपने विचारों द्वारा उपस्थित महिलाओं की हौसला अफजाई किया,कार्यक्रम का संचालन माँ सुरसरी सेवा संस्थान के कार्यक्रम प्रभारी हरीश चंद्र ने किया, इस अवसर पर समूह की महिलाओं के साथ ही संस्था के कार्यकर्ता पूनम देवी, कुसुम देवी, सीमा देवी आदि उपस्थित रहे।