दो दिवसीय मेगा टीकाकरण: पूर्णिया के 46 वार्डो में लगभग 70 सत्र-स्थल पर हो रहा टीकाकरण

  • टीकाकरण की शत प्रतिशत सफ़लता के लिए आशा कार्यकर्ता, आंगनबाड़ी सेविकाओं व निगम कर्मियों द्वारा किया जा रहा है सहयोग
  • शहरी क्षेत्र के अलावा बाढ़ प्रभावित इलाकों में शत प्रतिशत टीकाकरण करने का दिया गया लक्ष्य: सीएस
  • मेगा टीकाकरण के लिए जागरूकता रथ के द्वारा लाभुकों को किया जा रहा है प्रेरित: डीपीएम

पूर्णिया(रंजीत ठाकुर): कोरोना संक्रमण को हराने के लिए गुरुवार को नगर निगम क्षेत्र में दो दिवसीय मेगा टीकाकरण शिविर का आयोजन किया गया। शहरी क्षेत्र के 18 आयुवर्ष से लेकर 44 वर्ष तक के लोगों को टीकाकृत करने का लक्ष्य रखा गया है। जिसके लिए जिलाधिकारी राहुल कुमार के दिशा-निर्देश के आलोक में स्वास्थ्य विभाग द्वारा नगर निगम क्षेत्र के सभी 46 वार्डो में लगभग 70 सत्र स्थल बनाए गए हैं। दो दिवसीय मेगा टीकाकरण के तहत शहरी क्षेत्र के सभी सरकारी स्कूलों को टीकाकरण केंद्र स्थल बनाया गया है जहां पर सुबह 10 बजे से लेकर शाम 5 बजे तक टीकाकरण कार्य किया गया है। टीकाकरण को शत प्रतिशत सफ़ल बनाए जाने को लेकर नगर आयुक्त जिउत सिंह के द्वारा निगम कर्मियों के साथ बैठक कर कई तरह के आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए हैं। सभी सत्र स्थलों पर आशा कार्यकर्ताओं व आंगनबाड़ी सेविका व सहायिकाओं की उपस्थिति अनिवार्य रूप से रहते हुए कोविड-19 का अनुपालन किया गया।

सबसे ज़्यादा भवानीपुर 1490 लाभार्थियों को किया गया टीकाकृत:
दोपहर 02 बजे तक जिले के विभिन्न स्वास्थ्य केंद्रों के अमौर पीएचसी में 505, बैसा में 250, बायसी में 731, डगरुआ में 210, पूर्णिया पूर्व में 2670, श्रीनगर में 278, जलालगढ़ में 380, कसबा में 380, के नगर में 591, बड़हरा कोठी में 400, धमदाहा में 300, रुपौली में 675, भवानीपुर में 315 जबकिं बनमनखी में 1237 टीकाकरण हुआ हैं।

शहरी क्षेत्र के अलावा बाढ़ प्रभावित इलाकों में शत प्रतिशत टीकाकरण करने का दिया गया लक्ष्य: सीएस
सिविल सर्जन डॉ एसके वर्मा ने बताया नगर निगम के सभी वार्डो को शत प्रतिशत लक्ष्य को पूरा करने के उद्देश्य से 70 सत्र स्थल बनाये गए हैं। इन सभी केंद्रों के माध्यम से लगभग 15 हज़ार लोगों को टीकाकृत करने के लिए लक्षित किया गया है। जबकिं जिले के विभिन्न प्रखंडों के लिए 15 हज़ार टीकाकृत करने का लक्ष्य ऱखा गया हैं। उन्होंने यह भी बताया मुख्यालय से 30 हजार लोगों को टीकाकृत करने के लिए वायल आ गयी है। शहरी क्षेत्र के अलावा बाढ़ प्रभावित बैसा, अमौर व बायसी प्रखंडों में टीकाकरण के लिए एमओआईसी व बीएचएम को निर्देशित किया गया है।
हालांकि शेष बचे प्रखंडों में भी टीकाकरण किया जा रहा है। निगम क्षेत्र के निवासियों के लिए विशेष रूप से मेगा टीकाकरण शिविर का आयोजन किया गया है। इन दो दिवसीय आयोजन के दौरान 18 आयुवर्ष से लेकर 44 वर्ष तक के लाभार्थियों को केवल आधार कार्ड लेकर आना होगा। क्योंकि इन दो दिनों के लिए पहले से पंजीकृत होना जरूरी नहीं है। सिविल सर्जन ने शहर वासियों से अपील करते हुए कहा अपने-अपने नजदीकी सत्र स्थलों पर जाकर इस मेगा टीकाकरण शिविर के माध्यम से अपनी व अपने परिवार की सुरक्षा के लिए टीकाकरण आवश्यक कराएँ। कोरोना वायरस संक्रमण जैसी महामारी को जड़ से मिटाने को लेकर स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से सजग व तत्पर है। इसके लिए अनिवार्य रूप से कोविड का टीका लेना जरूरी है।

मेगा टीकाकरण के लिए जागरूकता रथ के द्वारा लाभुकों को किया जा रहा है प्रेरित: डीपीएम
मेगा टीकाकरण के तहत शत प्रतिशत लक्ष्य को पूरा करने को लेकर एक दिन पूर्व समाहरणालय परिसर से जिलाधिकारी एवं मदरसा बार्ड के अध्यक्ष द्वारा संयुक्त रूप से कोरोना टीकाकरण के लिए जागरूकता रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया। ताकि शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों के सभी लाभार्थियों को इसकी जानकारी एक दिन पहले मिल जाये। जिले के सभी प्रखंडों में जागरूकता रथ द्वारा कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए लोगों को जागरूक करने का काम किया जा रहा है। टीकाकरण की सफ़लता के लिए मदरसों में हैण्डबिल, पम्पलेट व किताबों का वितरण किया जा रहा है। इसके साथ ही लाभुकों को टीकाकरण कराने के लिए प्रेरित भी करना है।