सीयर सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र की ओपीडी से बंद

बलिया(संजय कुमार तिवारी): बिल्थरारोड तहसील में तहसील व ब्लाक कार्यालयों के अलावे सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सीयर को भी कोरोना संक्रमण अब पूरी तरह अपनी आगोश में ले लिया है। इसके कारण अब स्वास्थ्य सेवाओं पर बुरा असर पड़ चुका है। दो दिनों से इमरजेंसी सेवा को छोड़कर ओपीडी सेवा बन्द हो चुकी है। स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट को माने तो अब तक राजकीय महिला चिकित्सालय सीयर से महिला चिकित्सक डा0 कुसुम सिंह, फर्माशिष्ट महेन्द्र यादव, आरबीएसके चिकित्सक डा0 सतीश कुमार, महिला चिकित्सक डा0 रेनू महाजन, पीएचसी ककरासो के चिकित्सक डा0 राकेश पाण्डेय कोरोना पाजिटिव के शिकार चल रहे हैं। सीएचसी सीयर के एक चिकित्सक प्रशासनिक भारी दबाव के कारण उन्होने अस्पताल ही आना बन्द कर दिया है। विभागीय चर्चाओं में संकेत मिला है कि प्रशासनिक दबाव से तंग आकर अब उन्होने नौकरी छोड़ दी है। आज शुक्रवार को सीएचसी के तेजतर्रार चिकित्सक डा0 लालचन्द शर्मा भी एन्टीजन की जांच में कोरोना पाजिटिव आ चुके हैं। इनके अलावे ग्राम मझवलिया, अखोप व पलिया में एक-एक पाजिटिव केश एन्टीजन की जांच में मिले हैं। इसके अलावे आरटीपीसीआर से 24 पाजिटिव केश शुक्रवार को मिले हैं। कोरोना से सम्बन्धित काम करने वाले अधिकांश कर्मी कोरोना पाजिटिव आ जाने से स्थिति और खराब हो चुकी है। कोरोना केश प्रतिदिन भारी संख्या में आने से शेष कर्मचारी भी भारी दबाव में आ चुके हैं। दूसरी तरफ प्रशासनिक स्तर पर सहयोग व सपोर्ट न मिलकर सिर्फ दबाव ही मिलना बताया जा रहा है। इन्ही कारणों से सीएचसी सीयर में उथल-पुथल मच चुका है। स्वास्थ्यकर्मियों में कोरोना का कार्य करते इतना भय उनमें आ चुका है कि कहीं वे भी कोरोना पाजिटिव न हो गये हों। स्वास्थ्यकर्मियों में कोरोना संक्रमण की बढ़ती संख्या को देख अब अस्पताल में जाने से कोरोना का टीका लगवाने वाले घबड़ाने लगे हैं।