मरीजों को न हो कोई असुविधा, संसाधनों की कमी नहीं होने देगी सरकार

  • मंत्री उपेन्द्र तिवारी ने जिला अस्पताल व कोविड अस्पताल का किया निरीक्षण

बलिया(संजय कुमार तिवारी): खेल मंत्री उपेंद्र तिवारी ने रविवार को कोरोना महामारी के बीच जनपद की स्वास्थ्य सुविधाओं की स्थिति का जायजा लिया। उन्होंने जिला अस्पताल, एल-2 बसन्तपुर व फेफना का औचक निरीक्षण किया। उन्होंने साफ कहा कि किसी भी मरीज को कोई असुविधा नहीं होनी चाहिए। जो संसाधन हैं, कम से कम उसमें बेहतर उपचार सुनिश्चित किया जाए। सभी डॉक्टर मानवता व इंसानियत का परिचय देते हुए भगवान का दूसरा रूप वाली छवि लोगों के बीच प्रस्तुत करें। सरकार संसाधनों की कोई कमी नहीं होने देगी।

जिला अस्पताल में निरीक्षण के दौरान एक मरीज के परिजन ने बाहर की दवा लिखने की शिकायत की। इस सीएमएस से सवाल करते हुए चेतावनी दी कि ऐसा करने वाले डॉक्टर को हिदायत दे दें। अस्पताल में बंद पड़े वार्ड को तत्काल सफ़ाई कराकर मरीजों को उसमें शिफ्ट कराने का निर्देश दिया।

वेंटिलेटर चालू नहीं होने पर जताई नाराजगी

मंत्री तिवारी ने कहा कि सभी वार्डों में आक्सीमीटर रहे। अन्य जांच उपकरण भी काउंटर पर हमेशा रखने को कहा। टेलीफोनिक निर्देश के बावजूद ट्रामा सेंटर में रखे गए 11 वेन्टीलेटर को अभी तक चालू नहीं करने पर नाराजगी जताई। कहा कि अगर उसमें कोई दिक्कत हो तो बताएं, उसे दूर कराया जाएगा। जब प्रत्येक जनपद को 4-4 करोड़ कोविड से लड़ने के लिए दिए गए हैं। ऐसी स्थिति में कुछ सहायक उपकरण नहीं हैं तो खरीद क्यों नहीं हो रही हैं। यह भी सवाल किया कि मैंने अपनी विधायक निधि से भी धन आवंटन के लिए प्रस्ताव मांगा था तो उसमें इन उपकरणों का प्रस्ताव क्यों नहीं भेजा गया।

कोविड अस्तपाल फेफना की व्यवस्था सुधारें

खेल मंत्री श्री तिवारी ने बसन्तपुर स्थित लेवल- 2 अस्पताल में कोरोना मरीजों की स्थिति को देखा। उनसे बात कर व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी ली। सीएमओ डॉ राजेन्द्र प्रसाद ने बताया कि यहां कुल 55 मरीजों को एडमिट करने की क्षमता हैं। फिलहाल 25 मरीज हैं। फेफना के कोविड अस्पताल की व्यवस्था में सुधार लाने के साथ वहां स्थाई रूप से विशेषज्ञ चिकित्सक तैनात करने का निर्देश दिया। इस दौरान भाजपा जिलाध्यक्ष जय प्रकाश साहू, नगर मजिस्ट्रेट नागेंद्र सिंह, एसडीएम सदर राजेश यादव, सीएमएस डॉ बीपी सिंह आदि थे।