कांग्रेसियों की बैठक में सांसद बाजवा छाए रहे

पठानकोट(कंवल रंधावा): पठानकोट में कांग्रेसियों की एक आयोजित बैठक में जहां कांग्रेस के नवनिर्वाचित प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिधु को मुबारकों का सिलसिला चलता रहा वहीं संसद प्रताप सिंह बाजवा बैठक दौरान हर मुद्दे पर छाए दिखाई दिए। देखा जाए तो 2022 के चुनाव नजदीक हैं ऐसे में कांग्रेसियों को पूर्व पंजाब कांग्रेस प्रधान एवं सांसद प्रताप सिंह बाजवा की कमी महसूस होती दिख रही है। सरदार प्रताप सिंह बाजवा को पुनः प्रदेश की राजनीति में लाने के लिए उनके समर्थकों की ओर से आए दिन मीटिंगें की जा रही हैं। इसी सिलसिले में आज पठानकोट में कांग्रेसी पदाधिकारियों की ओर से एक बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें अखिल भारतीय राहुल गांधी ब्रिगेड के महासचिव एवं प्रभारी पंजाब, हिमाचल एवं जम्मू कश्मीर डॉ विक्की काठा, जिला कांग्रेस के सीनियर वाईस प्रधान अमित मिट्ठू, जिला यूथ कांग्रेस के महासचिव वरूण कोहली, यूथ असैंबली वाईस प्रधान दीपक शर्मा, असैंबली यूथ महासचिव अंकित मेहरा, मुनीश कुमार विशेष तौर पर मौजूद रहे। इस मौके पर मौजूद कांग्रेसियों ने कहा कि अब समय आ गया है कि पूर्व पंजाब कांग्रेस प्रधान एवं सांसद प्रताप सिंह बाजवा को पार्टी में एक बड़ी जिम्मेदारी सौंपी जाए। ताकि 2022 का चुनाव मजबूती के साथ लड़ा जा सके। सरदार प्रताप सिंह बाजवा पंजाब कांग्रेस के एक सीनियर लीडर होेने के साथ साथ कांग्रेसी कार्यकर्ताओं के लिए एक बड़े मार्गदर्शक भी हैं। लेकिन, अब पंजाब कांग्रेस में उनकी कमी को काफी महसूस किया जा रहा है। पंजाब भर में सरदार प्रताप सिंह बाजवा के समर्थकों की संख्या काफी ज्यादा है और वह भी यहीं चाहते हैं कि सांसद बाजवा जल्द से जल्द पंजाब की राजनीति में वापसी करें। मौजूद कांग्रेसी पदाधिकारियों ने वह राश्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी एवं सोनिया गांधी से अपील करते हैं कि उन्हें पंजाब कांग्रेस की एक बड़ी जिम्मेदारी देकर पंजाब की राजनीति में वापिस लाएं। गौरतलब है कि सरदार प्रताप सिंह बाजवा की ओर से खुद 2022 में पंजाब की राजनीति में वापसी का ऐलान किया गया था, जिसे लेकर उनके समर्थकों में उत्साह है।