कंचन उगूरसैंडी ने विश्व की सबसे ऊंचाई पर बनी सड़क उमलिंगला दर्रे की यात्रा पूरी कर तिरंगा लहराया

रांची(न्यूज़ क्राइम 24): झारखंड राँची 0 से -44 डिग्री से कम तापमान वाले जगह पर सेना द्वारा तैयार किए गए अंतिम सड़क पर पहुंचकर रिकॉर्ड बनाया शशि तिग्गा रांची महिलाओं को गाड़ी चलाते देख अक्सर सड़क पर चलते लोग ये कहते सुनाई देते हैं कि लड़कियां अच्छी ड्राइवर नहीं होती. इस भ्रम को तोड़ने के लिए कई महिलाएं सामने आयीं , लेकिन अभी बात हो रही है झारखंड के सरायकेला की रहने वाली कंचन उगूरसैंडी की. जिन्होंने विश्व की सबसे ऊंचाई पर बनी सड़क उमलिंगला दर्रे की यात्रा सफलतापूर्वक पूरी की और तिरंगा लहराया. 0 से 44 डिग्री से कम तापमान वाले जगह पर सेना द्वारा तैयार किए गए अंतिम सड़क पर पहुंचकर रिकॉर्ड बनाया है. कंचन विश्व की पहली महिला बन चुकी है, जो अकेले बाइक से ही दुनिया की सबसे ऊंची सड़क तक पहुंचने में कामयाब हुई।