एसपी के आदेश के बावजूद आरोपित की नहीं हो रही गिरफ्तारी

जमुई(मो० अंजुम आलम): सोनो थाना क्षेत्र के बोथा गांव में ससुराल वालों द्वारा बहु की पीटकर हत्या करने मामले में ढाई महीने बाद भी पूलिस के हाथ खाली हैं। बेटी को इंसाफ दिलाने के लिए पिता दर-दर की ठोकरें खाने पर मजबूर है।पुलिस के कार्यशैली से नाराज पीड़ित पिता ने जिला लोक शिकायत निवारण में आवेदन देकर न्याय को गुहार लगाई है साथ ही बेटी के हत्यारे की गिरफ्तारी की मांग की है। सोनो थाना क्षेत्र के बोथा गांव निवासी पीड़ित पिता सिराज अंसारी ने बताया की उनकी पुत्री खुशबू खातून की हत्या ससुरालवालों द्वारा करने के बावजूद ढाई महीने के बाद भी पुलिस एक भी आरोपित को गिरफ्तार नहीं कर पाई है। एसपी द्वारा दिए गए गिरफ्तारी केआदेश के बाद भी अबतक मुजरिम खुलेआम घूम रहा है। मुजरिम से मिली भगत की वजह से झाझा एसडीपीओ द्वारा केस को दबा कर रखा गया है। पूंछने पर डांट-फटकार कर भगा दिया जाता है। उन्होंने इंसाफ की गुहार लगाते हुए आरोपित पर सख्त कार्रवाई की मांग की है.

सुलह कराने की बात कह लड़की को बुलाकर की थी पिटाई-

सेराज अंसारी ने बताया कि वे अपनी पुत्री खुशबू खातून की शादी झाझा थाना क्षेत्र के चांय गांव निवासी जमाल मियां के पुत्र जाहिद अंसारी से की थी। शादी के बाद कुछ दिन तक ठीक रहा फिर पैसे की मांग को लेकर प्रताड़ित और मारपीट किया जाने लगा। जब वे पुत्री को अपने घर लेकर आ गए तो सभी ससुराल वाले बोथा गांव अपने रिश्तेदार के यहां आ गए और समझौता करने की बात कहकर उनकी पुत्री को ले गए लेकिन वहां लड़की के पहुंचते ही उसके पति जाहिद अंसारी, ससुर जमाल मियां, सास मैमूना खातून, भैसुर ताहिर अंसारी, देवर इरफान अंसारी, समीर अंसारी, कसीमा खातून द्वारा मारपीट किया जाने लगा। इस दौरान महिला के सिर में चोट लग गई और वह घायल हो गई। जिसे अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां 4 जनवरी को इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई थी। उसके बाद पिता द्वारा सभी ससुरालवालों पर हत्या का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया गया था।