ईद की नमाज़ घर में अदा करने के बाद एक दुसरे को ईद की बधाई दी गई

अररिया(चंदन कुमार): जिले में कोविड 19 के रोकथाम के लिए जारी लॉकडाउन (Lockdown) के बीच मुस्लिम समाज में चिंता इस बात को लेकर थी कि इस बार भी ईद की नमाज कैसे की जाए क्योंकि अभी की स्थिति में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना भी जरूरी है. यही वजह है कि रमज़ान के पवित्र माह का अलविदा जुमा, शबे कद्र और ईदुल फ़ित्र की नमाज के सम्बन्ध में जिले के सभी घरो में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए नमाज़ अदा की गई.

14 महीने से कोरोना महामारी के प्रकोप के बीच दूसरे वर्ष मुस्लिम समुदाय के लोगों ने कोविड गाइडलाइन के अंतर्गत अपने घरों में ईद की नमाज अदा कर एक-दूसरे को मुबारकबाद देते दिखे। जहां शहर के हर मोहल्ले के छतो पर लोग अपने परिवार के साथ नमाज पढ़ते देखे गए। वही लोगों ने सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखते हुए गला ना मिलाते हुए सादे अंदाज में ईद की मुबारकबाद दी। मुस्लिम भाइयों ने ईद के मौके पर पूरी दुनिया में कोरोना से निजात व मुल्क के अमन शांति के लिए अल्लाह से दुआ मांगी। न्यूज़ क्राइम 24 संवाददाता को बताया कि घर में ही इमाम हाफिज मो० हामिद के साथ नमाज अदा करने के उपरांत युवा आदिल जुनैद बताते हैं कि यह दूसरा वर्ष है जब हम लोग अपने घरों में पूरे रमजान के तीस रोजा अकीदत के साथ गुजारने के बाद ईद की नमाज अदा की है। ईदगाह नहीं जाने का थोड़ा कसक है लेकिन पूरे परिवार के लोग एक साथ अपने घरों में महफूज है इसकी खुशी है। वही इस मौके पर राशिद जुनैद, शम्स नवाज उर्फ सोनू, सुभानअल्लाह, सादिक जुनैद, कलीमुल्लाह, जुनैद अहमद, शोएब अहमद, जकी अनवर, फिरोज अहमद, साकिब, शादाब, युसूफ, मारूफ आदि ने एक साथ नमाज़ अदा की।