शहरी इलाकों में भी टीका एक्सप्रेस से होगा विशेष टीकाकरण अभियान का संचालन

  • 45 से 60 साल आयु वर्ग के लोगों को होगा अभियान का लाभ, लाभुकों के घर के समीप आयोजित होंगे सत्र
  • वार्ड के सामुदायिक भवन, स्कूल सहित अन्य सार्वजनिक स्थलों पर होगा टीकाकरण का इंतजाम

अररिया(रंजीत ठाकुर): कोरोना संक्रमण से बचाव के लिये टीकाकरण एक महत्वपूर्ण जरिया है। 45 साल से अधिक उम्र के लोगों को कोरोना का टीका लगाने के लिये अब शहरी इलाकों में भी टीका एक्सप्रेस के माध्यम से टीकाकरण अभियान का संचालन किया जायेगा। इसके लिये अलग माइक्रोप्लान तैयार कर लाभार्थियों को उनके घर के नजदीक ही सत्र आयोजित कर टीकाकृत किया जायेगा। राज्य स्वास्थ्य समिति ने इसे लेकर संबंधित अधिकारियों को जरूरी दिशा निर्देश जारी किये हैं। इसमें नगर निकायों से परस्पर समन्वय स्थापित कर विशेष स्थानों पर सत्र आयोजित कर अधिक से अधिक लोगों को टीकाकृत किये जाने का आदेश दिया गया है। शहरी क्षेत्रों में टीकाकरण के लिये टीका एक्सप्रेस की व्यवस्था राज्य स्तर पर किया जाना है।

विभिन्न सहयोगी संस्था की ली जायेगी मदद

टीका एक्सप्रेस द्वारा संचालित अभियान की सफलता को लेकर जीविका, आईसीडीएस, शिक्षा सहित संबंधित जनप्रतिनिधियों से अपेक्षित सहयोग लिया जायेगा। इससे संबंधित जानकारी देते हुए सिविल सर्जन डॉ एमपी गुप्ता ने कहा माइक्रोप्लान के निर्धारण में शहरी अपार्टमेंट, स्लम बस्ती, सब्जी मंडी, बाजार समिति, ऑटो रिक्शा व उद्योग एसोसिएशन को सम्मिलित किया जायेगा। ताकि अधिक से अधिक लोगों का टीकाकरण सुनिश्चित कराया जा सके। टीकाकरण सत्र स्थलों पर लाभुकों व स्वास्थ्य कर्मियों के बैठने के पर्याप्त इंतजाम, स्वच्छ पेयजल सहित अन्य जरूरी इंतजाम संबंधित नगर निकायों के माध्यम से सुनिश्चित कराया जायेगा। टीका एक्सप्रेस के माध्यम से टीकाकरण के लिये टीकाकरण दल का गठन सिविल सर्जन के स्तर से किया जायेगा। लाभुकों से संबंधित डेटा निर्धारित पोर्टल पर अपलोड करने के लिये राज्य सतर पर ऑपरेटर उपलब्ध कराये जायेंगे। सत्र स्थलों पर कर्मियों के लिये दोपहर के भोजन का इंतजाम जिला प्रशासन द्वारा सुनिश्चित कराया जाना है।

टीका एक्सप्रेस के लिये हर दिन 200 लोगों को टीकाकृत करने का है लक्ष्य

45 साल से अधिक उम्र के लोगों को कोरोना का टीका लगाने के लिये संचालित प्रत्येक टीका एक्सप्रेस को हर दिन कम से कम 200 लोगों को टीकाकृत करने का लक्ष्य है। टीकाकरण का कार्य सुबह से शाम तक संचालित किया जायेगा। सिविल सर्जन ने कहा अभियान के आयोजन से पूर्व संबंधित क्षेत्र में संबंधित नगर निकाय के माध्यम से क्षेत्र में इसका व्यापक प्रचार-प्रसार सुनिश्चित कराया जायेगा। ताकि अधिक से अधिक लोगों को इसकी जानकारी हो सके। सत्र स्थलों पर पर्याप्त मात्रा में मास्क, सैनिटाइजर जिला स्वास्थ्य समिति के माध्यम से उपलब्ध कराया जायेगा। साथ ही सत्र स्थलों पर एईएफआई से संबंधित मामलों के प्रबंधन का इंतजाम होगा। आवश्यकतानुसार सत्र स्थलों पर एंबुलेंस की उपलब्धता सुनिश्चित करायी जायेगी। टीकाकरण के लिये लाभार्थियों को अपने आधार कार्ड की छायाप्रति सत्र स्थलों पर उपलब्ध कराना अनिवार्य होगा। टीकाकरण के पश्चात लाभार्थियों से संबंधित डेटा निर्धारित पोर्टल पर उसी दिन अपलोड कराना अनिवार्य होगा।