अधिवक्ता को फर्जी मुकदमे में फंसाने एवं हथकड़ी लगाकर अपमानित करने को लेकर शहनाज फातमा ने की घोर निंदा

[Edited By: Robin Raj]

पटना/पटनासिटी(न्यूज़ क्राइम 24): दानापुर व्यवहार न्यायालय बार एसोसिएशन उपाध्‍यक्ष नंदकिशोर शर्मा को हथकड़ी लगाकर न्‍यायालय भेजने की नौबतपुर पुलिस की कार्रवाई की अधिवक्‍ता संघ ने गहरी निंदा की है. बुधवार को इसको लेकर बार काउंसिल ऑफ स्टेट की सदस्या शहनाज फातमा ने वरीय पुलिस अधीक्षक, पुलिस महानिरीक्षक एवम पुलिस महानिदेशक को ई-मेल किया है जिसमे फातमा ने बताया है कि बीते दिनांक 12 /06/21 को नौबतपुर पुलिस दानापुर के अधिवक्ता सह उपाध्यक्ष श्री नंदकिशोर अपने प्राइवेट गाड़ी से जा रहे थे उसी दौरान एक ट्रक वाले ने उनकी गाड़ी को धक्का मार दिया जब व्यथित अधिवक्ता ने मुआवजे की मांग की तो ड्राइवर ने अपने मालिक को फोन किया और ट्रक मालिक ने झूठे आरोप में फंसा कर झूठा मुकदमा दर्ज किया तथा अधिवक्ता को गिरफ्तार करवा दिया एवं खुलेआम हथकड़ी लगाकर घुमाया व अपमानित किया. सुश्री फातमा ने अपने बयान में कहा कि बिना जांच किए किसी व्यक्ति को गिरफ्तार करना मौलिक अधिकार का हनन है. गिरफ्तार करने के बाद बारंबारता के साथ मारपीट या गाली गलौज किया जाना निंदनीय है.

पुलिस पदाधिकारी द्वारा किए गए इस मनमानी पर सुश्री फातमा सहित बिहार राज्य बार काउंसिल के वरीय  सदस्य जयप्रकाश सिंह, बिंदकेसरी सिंह तथा बिहार के समस्त अधिवक्ताओं ने घोर निंदा की है तथा सभी अधिवक्ताओं ने मांग कि है कि ऐसे पुलिस पदाधिकारी को तत्काल निलंबित किया जाए  तथा उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की जाए. इसके लिए अधिवक्ता समाज पुलिस का सदैव  का बहुत आभारी रहेगा।