तेजस्वी प्रसाद यादव के निजी कोष से सरकारी आवास में बने कोविड अस्पताल पर मंगल पांडेय का तंज और आलोचना आम जनता के हितों के विरुद्ध है : एजाज अहमद

पटना/फुलवारीशरीफ(अजित यादव): राष्ट्रीय जनता दल के वरिष्ठ नेता सह पूर्व प्रवक्ता एजाज अहमद ने कहा कि नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव ने अपने सरकारी आवास एक पोलो रोड को कोविड मरीजों के इलाज के लिए अस्पताल के रूप में परिवर्तित करने का राज्य सरकार से अनुरोध किया है क्योंकि पटना सहित पूरे राज्य में मरीजों की संख्या बढ़ने के कारण सभी सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में बेड की कमी पड़ गई है और स्वास्थ्य व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई है तो ऐसे समय में नेता प्रतिपक्ष ने अपने निजी कोष से बेड, जरूरी सामानों दवा तथा अनुकरण की व्यवस्था के साथ-साथ मरीजों के परिजनों के लिए खाने तथा पीने की व्यवस्था अपने स्तर से करवाया जो सराहनीय कदम है लेकिन अफसोस की बात है की बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे को इस तरह की व्यवस्था को स्वीकार करने की जगह इसे आलोचना और राजनीति का आधार बना रहे हैं । उन्होंने कहा सिर्फ बयान बाजी करने से ही बिहार की जनता का इलाज नहीं हो सकता है इसके लिए अस्पताल बेड दवा ऑक्सीजन और एंबुलेंस की व्यवस्था करवानी होगी जो आपके द्वारा हाथ खड़े कर लेने के कारण ही आज ऐसी स्थिति हो रही है कि लोग बिना इलाज के तड़प तड़प कर मर रहे हैं। एजाज ने याद दिलाया कि मुख्यमंत्री से लेकर प्रधानमंत्री तक ने भी कहा है कि सभी के सहयोग से ही कोविड जैसी महामारी से लड़ा जा सकता है और इसमें कामयाबी मिल सकती है.

उन्होंने कहा कि होना यह चाहिए था की नेता प्रतिपक्ष के आग्रह को स्वीकार करके डॉक्टरों की टीम के साथ कोविड अस्पताल के रूप में इसे सुचारू ढंग से चलाने की अनुमति प्रदान करते हुए नेता प्रतिपक्ष का धन्यवाद करते हुए इसे एक बेहतर पहल बताते । उन्होंने आगे बताया कि पूरे देश में जो भी अपने स्तर से जगह और बेड तथा जरूरी सामान उपलब्ध करवाया है उसे संबंधित राज्य की सरकार सहर्ष स्वीकार करके उस स्थान को अपने स्वास्थ्य व्यवस्था के अधीन लेकर डॉक्टरों की सुविधा प्रदान करके कोविड प्रोटोकॉल के तहत इलाज की व्यवस्था करवा रही है।