पंचायतों को नौकरशाहों के हाथों सौपने के खिलाफ माले का प्रदर्शन 

फुलवारीशरीफ(अजित यादव): पंचायत चुनाव की अवधि 6 माह के लिए आगे बढाओ ,पंचायतों को नौकरशाहों के हाथों सौंपना बंद करो ,पंचायतों के लोकतांत्रिक अधिकारों की हत्या बंद करो ,कोविड महामारी से मुकाबला के लिए पंचायतों के अधिकार बढाओ , पंचायतों को 6 माह बढाने वाला अध्यादेश लाओ आदि मांगो  के तख्तियां लेकर फुलवारी शरीफ और  संपत चक के दर्जनों गांवों में भाकपा माले कार्यकर्ताओं ने राज्यव्यापी विरोध दिवस के तहत  प्रदर्शन किया । भाकपा माले नेताओं ने कहा कि कोविड महामारी से मुकाबला करने के बजाय सरकार पंचायतों के लोकतांत्रिक अधिकार छिनना चाहती है.

प्रदर्शन में शरीफा मांझी, गुरुदेव दास,साधु, देवी लाल पासवान ,राधेश्याम पासवान, अजय दास , कामेश्वर दास एवम संपत चक में सत्यानन्द कुमार,धनराज पासवान,सिभीषण आर्य,बिजिन्र्द पण्डित, हीरा दास रजिन्र्द रविदास, रामअयोध्या मोची ,सुरज कुमार ,रजकलिया देवी ,मनोज दास ,बिट्टू दास, रामजी कुमार, विश्वनाथ दास रामभरत मिस्त्री ,मनोज चौधरी दिपक चौधरी ,दिपक पंडित, बबलू पण्डित , तपेश्वर मांझी ,राजु मांझी, योगेन्र्द मांझी रघु रबिदास, धनपत दास ,अजित दास ,रविकिशन, विकी कुमार, राजेश कुमार, मंटू कुमार, रामशिगार पासवान ,सुरेश सिंह छेछन राम, सुरेशचन्र्द ठाकुर, गया पासवान, बबीता देवी ,तेतरी देवी ,अबध पासवान ,हरि मह्तो  पुर्बाही देवी,भीम दास ,धर्मन्र्द कुमार प्रमुख रूप से शामिल थे ।