डिगवाडीह में मनाया गया हुल दिवस

धनबाद: झारखंड मुक्ति मोर्चा के बैनर तले डिगवाडीह मैं मदन राम के आवासीय कार्यालय में हुल दिवस मनाया गया।कार्यक्रम का अध्यक्षता झामुमो नेता मदन राम ने किया संचालन शिबू आर्मी के इम्तियाज अंसारी ने किया तथा कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रुप में झांकोमयु के सपन बनर्जी थे कार्यक्रम का आरंभ सिद्धू कानू की तस्वीर पर माला पहनाकर किया गया तत्पश्चात सभी अतिथियों द्वारा उनकी तस्वीर पर पुष्प अर्पित किया गया मदन राम ने अपने अध्यक्षीय भाषण में बोला कि झारखंड के प्रत्येक लोगों को झारखंड का एक-एक आंदोलन याद रखना चाहिए उसमें से एक है हूल दिवस सन 1855-56 में ब्रिटिश हुकूमत तथा जमीदारी एवं महाजनी प्रथा का विद्रोह किया गया जिसमें सिद्धू कानू ने सभी संथालीओं को साल पेड़ का टहनी भेंट कर आमंत्रित कर हूल आंदोलन में 10,हजार संथालीओ को एकत्रित किया था और नारा दिया था करो या मरो अंग्रेजों हमारी माटी छोड़ो आज इस देश में एक विद्रोह की आवश्यकता है जिस तरह हमारे देश के शासक देश के जनता पर कर का बोझ डालता जा रहा है तथा जनता त्राहिमाम कर रहे हैं सब मिलकर प्रण लेते हैं कि हम सभी पुनः हूल विद्रोह करते हैं आज के इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से उपस्थित थे झाकोमयु के सपन बनर्जी झामुमो नेता मदन राम शिबू आर्मी के विधानसभा अध्यक्ष इम्तियाज अंसारी, फरीद मलिक, सने रहमत अशोक खरे आदित्य नारायण राव गौतम हरि पिंटू इम्तियाज सोमनाथ चटर्जी डब्लू अंसारी मनोज सिंह मोहम्मद आजाद मनोहर राम मलाई चंद्र महतो परमेश्वर मंडल प्रीति दिवस आशीष मंडल अधिवक्ता साबिर फिर दोस्ती कलीम सिद्धकी आमिर खान भरत राम इस्माइल अंसारी संदीप कुमार दिलीप साहू बादशाह आजाद अंसारी मनोहर कुमार मिथुन चक्रवर्ती राजेश सरकार आदि लोग उपस्थित थे।