वैक्सीन लेने आए लोगों ने नल-जल योजना का खोला पोल!

अररिया(रंजीत ठाकुर): नरपतगंज प्रखंड क्षेत्र में सरकार के द्वारा चलाए जा रहे, सात निश्चय योजना के तहत जल नल योजना धरातल पर नाकामयाब साबित हो रहा है। सरकारी मानकों के विपरीत संवेदक के द्वारा यह योजना की जाल बिछाया गया है, जिससे हर घर नल की जल पहुंचना असफल साबित हो रहा है।
इसी कड़ी में सोमवार को प्रखंड क्षेत्र के नवाबगंज पंचायत मध्य विद्यालय में कोरोना वैक्सीन लेने आए लोगों ने विद्यालय में लगे नल जल की टंकी से विद्यालय परिसर में ही नल वाली पाइप में नलका नहीं लगा देख और पानी यत्र तत्र निकलते देख लोगों ने मीडिया के सामने अपना रोष प्रकट किया.

इस बाबत स्थानीय समाजसेवी संतोष साह,पूर्व सैनिक खगेन्द्र यादव,रंजीत कुमार साह आदि ने बताया कि सरकार के द्वारा चलाये जा रहे यह योजना फ्लॉप योजना साबित हो रहा है। इसका मुख्य कारण संवेदक के द्वारा किए जा रहे कार्य प्राक्कलन के विपरीत किया जाना यहां तक की सरकारी मानकों के विपरीत सामग्रियों को लगाना, गुणवत्ता विहीन सामग्रियों का उपयोग में लगाना। और ग्रामीणों की शिकायत पर सरकारी पदाधिकारियों के द्वारा स्थल जांच नहीं किया जाना। उन्होंने बताया कि समय रहते अगर पदाधिकारियों के द्वारा हम लोगों के समक्ष जांच नहीं किया गया तो हम लोग आंदोलन के लिए बाध्य होंगे। लोगों ने यह भी बताया कि पंचायत के सभी वार्डों में इस तरह की खामियां हैं संवेदक को बोले जाने के बावजूद संवेदक इस पर ध्यान नहीं देते

जानिए एक वार्ड में कितने लागत से लगाया जाता है पानी का टंकी:- एक वार्ड में लगभग एक करोड़ 25,00000 रुपए की लागत से एक टंकी का निर्माण एवं वार्ड में लोगों के घरों तक पानी पहुंचाने का काम किया जाना है। एक पंचायत में लगभग 20 से 25 करोड़ रुपया इस योजना से खर्च किया जाता है, लेकिन अब तक लोगों के घरों तक शुद्ध व स्वच्छ पानी नहीं पहुंच पाया है।