बारात निकलने के कुछ देर पहले ही उठी दूल्हे की अर्थी

नालंदा(राकेश कुमार): कोरोना संक्रमण के कारण बिहार में मौत का आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है. कई घरों के चिराग सदा के लिए कोरोना को कारण बुझ रहे हैं. वहीं, कोरोना कई परिवारों की उन ख्वाहिशों पर भी हमेशा के लिए मिट्टी डाल रहा है जिसे पूरा होते देखने के लिए इन परिवारों ने कई साल का इंतजार किया । कोरोना का ऐसा ही एक हृदयविदारक कहर नालंदा में देखने को मिला. जिले के बिहार शरीफ में कोरोना वायरस ने दो दिलों के एक होने से पहले ही हमेशा के लिए जुदा कर दिया है. बारात निकलने से कुछ देर पहले दूल्हे की मौत हो गयी । दूल्हा बिहार शरीफ रेलवे स्टेशन में सिग्नल डिपार्टमेंट में हेल्पर था दूल्हा जानकारी के अनुसार मामला नालंदा जिले के बिहार शरीफ का है. जहां एक रेलवे कर्मचारी की जान कोरोना ने शादी के महज कुछ घंटों पहले ही ले ली. दोनों परिवारों में शादी को लेकर तैयारियां जोरों पर चल रही थीं. शादी से महज कुछ घंटे पहले ही दूल्हे की मौत हो गयी. इस घटना से दो परिवारों पर गम का पहाड़ टूट पड़ा. मृतक वीरेन्द्र पासवान बिहार शरीफ रेलवे स्टेशन पर सिग्नल हेल्पर के पद पर कार्यरत था. वीरेंद्र की 27 अप्रैल ही शादी होनी थी.जांच में पाया गया था कोरोना पॉजिटिव.

बताया जाता है कि वीरेंद्र करीब छह वर्षों से बिहार शरीफ रेलवे स्टेशन पर कार्यरत था. इसी बीच उसकी शादी तय हुई और करीब दस दिन पहले छुट्टी लेकर अपने घर साहेबगंज गए थे. घर जाने के बाद उन्होंने कोरोना जांच कराया था, जिसमें वे पाॅजिटीव पाये गए. कोरोना संक्रमण के बाद उनकी तबीयत खराब हुई और आज जिस दिन उनकी शादी होनी थी, उस दिन घर से अर्थी उठी।