पटनासिटी के शीशा कारोबारी राजकुमार जायसवाल हत्याकांड का खुलासा, पड़ोसी अभिषेक गिरफ्तार!

 पटनासिटी के शीशा कारोबारी राजकुमार जायसवाल हत्याकांड का खुलासा, पड़ोसी अभिषेक गिरफ्तार!
Advertisement

पटना/पटनासिटी(अजित यादव): पटना सिटी के शीशा कारोबारी राजकुमार जायसवाल की हत्या उसके पड़ोसी ने किया था । पटना के एसएसपी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में मामले का खुलासा करते हुए बताया कि शीशा कारोबारी की हत्या में उसके पड़ोसी अभिषेक को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

Advertisement

एसएसपी मानवजीत सिंह ढिल्लो ने हत्याकांड का खुलासा करते हुए कहा कि घटना में संलिप्त अभिषेक ने ही हत्याकांड को अंजाम देकर व्यवसायी की लाश को उसके ही फैक्ट्री ने छिपा दिया था। अभिषेक को गिरफ्तार कर कड़ाई से पूछताछ किया गया तो उसने अपनी संलिप्तता स्वीकार कर ली है । पुलिस ने वैज्ञानिक तरीके से इस हत्याकांड का खुलासा किया है । साथ ही घटना के समय पहने पोशाक भी जब्त किए गए हैं।

दरअसल, 30 सितंबर 2021 को चौक थाना क्षेत्र में शीशा व्यवसायी राजकुमार जायसवाल उर्फ राजू जायसवाल का अपहरण की खबर सामने आयी, उनके ही मोबाइल से 3 लाख रूपये की फिरौती मांगी गयी. परिजनों ने इसकी सूचना पुलिस को दी. इसी बीच पता चला कि राजकुमार जायसवाल उर्फ राजू जायसवाल की उनके शीशा कारखाने में ही नृशंस हत्या कर उनके शव को प्लास्टिक व पत्ते से छिपा दिया गया है. पुलिस तुरंत कारखाना पहुंचकर शव को बरामद किया।

Advertisements
Advertisement

एसएसपी मानव जीत सिंह ढिल्लों ने बताया कि 30 सितंबर 2021 की घटना के बाद एसडीपीओ पटनासिटी के नेतृत्व में एक विशेष टीम का गठन किया गया.जांच के क्रम में किसी बड़े विवाद या झगड़े या सम्पति की बात भी सामने नहीं आ रही थी. तब टीम ने तकनीकि एवं वैज्ञानिक अनुसंधान पर फोकस करते हुए हत्याकांड की तह तक पुलिस पहुंची. जिसमें शीशा व्यवसायी का पड़ोसी चौक थाना क्षेत्र के ही चमडोरिया निवासी अभिषेक कुमार की हरकते संदिग्ध दिखी।

संदिग्धता के आधार पर इसके भी फिंगर प्रिंट को घटना स्थल से मिले फिंगर प्रिंट से मैच कराने को लेकर विधि विज्ञान प्रयोगशाला भेजा गया. उन्होंने बताया कि कई अन्य तकनीकि साक्ष्यों के साथ फिंगर प्रिंट रिपोर्ट भी अभिषेक के फिंगर प्रिंट से मिल गए. जिसके बाद इसकी गिरफ्तारी की गयी।

न्यूज़ क्राइम 24 संवाददाता

Related post