बगैर लाइसेंस के सरस्वती पूजा की अनुमति नहीं, अगले दिन ही करना होगा विसर्जन, गाइडलाइन जारी

पटना: सरस्वती पूजा की तैयारी शुरू हो गई है. इस बार सरस्वती पूजा के दौरान माहौल बदला-बदला नजर आएगा. पूजा पंडालों के अंदर हर हाल में कोरोना गाइलाइन का पालन किया जाएगा. इसी बीच पटना जिला प्रशासन ने इसे लेकर गाइडलाइन जारी किया है. जिसमे सरस्वती पूजा का आयोजन करने के लिए लाइसेंस लेना जरूरी होगा. इतना ही नहीं 17 फरवरी को दिन में ही मूर्ति का विसर्जन भी करना होगा.

पटना जिला प्रशासन द्वारा गाइडलाइन जारी-

आगामी 16 फरवरी को बसंत पंचमी है. पटना जिला प्रशासन ने इसे लेकर गाइडलाइन जारी किया है. पटना के जिलाधिकारी डॉ चंद्रशेखर सिंह और एसएसपी उपेंद्र शर्मा की तरफ से जारी इस आदेश में कहा गया है कि बिना लाइसेंस के किसी को भी सरस्वती पूजा के आयोजन और मूर्ति रखने के साथ अनुमति नहीं होगी. वहीं पटना नगर निगम द्वारा स्थानीय स्तर पर कृत्रिम तालाबों का निर्माण किया जाएगा, इन्हीं कृत्रिम तालाबों में मूर्ति का विसर्जन करना होगा. मूर्ति विसर्जन के लिए 17 फरवरी की तारीख तय की गई है. दिन के वक्त ही विसर्जन करना होगा. पटना के सभी थानाध्यक्षों के साथ-साथ बीडीओ और सीओ को मूर्ति विसर्जन के काम तो समय पूरा कराने का निर्देश दिया गया है. इसके साथ ही डीजे बजाने पर रोक लगा दी गई है. जुलूस के दौरान असामाजिक तत्वों पर पुलिस की विशेष नजर रहेगी. अगर किसी तरह का कोई उपद्रव होता है तो उपद्रवियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का निर्देश भी दिया गया है।