कोरोना टीका को लेकर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की अनिवार्यता खत्म

  • टीकाकरण के लिये 18 से 44 साल के युवाओं को ऑन स्पॉट रजिस्ट्रेशन की होगी सुविधा
  • स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा कोविन पोर्टल में किये गये बदलाव से युवाओं को होगा लाभ

अररिया(रंजीत ठाकुर): कोरोना टीकाकरण को लेकर शुरू से युवाओं में उत्साह व्याप्त है। बीते 08 मई से जिले में 18 से 44 साल आयु वर्ग के लोगों के लिये विशेष टीकाकरण सत्र का संचालन किया जा रहा है। अभियान के शुरुआती दौर से चिह्नित आयु वर्ग के युवा बढ़-चढ़ कर अभियान में भाग ले रहे हैं। अब तक इस आयु वर्ग के 28 हजार 748 लोगों को टीका का पहला डोज दिया जा चुका है। बावजूद इसके टीकाकरण के लिये ऑन लाइन रजिस्ट्रेशन की अनिवार्यता के कारण बड़ी संख्या में युवा टीकाकरण से वंचित हो रहे थे।

खत्म हुई पूर्व रजिस्ट्रेशन की अनिवार्यता :

टीकाकरण को लेकर युवाओं को हो रही दिक्कतों को देखते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोविन पोर्टल पर बड़ा बदलाव करते हुए ऑन लाइन रजिस्ट्रेशन की अनिवार्यता को खत्म कर दिया है। अब इस आयु वर्ग के लोग बिना पूर्व रजिस्ट्रेशन के भी कोरोना का टीका लगा सकेंगे। इसके लिये उन्हें ऑन स्पॉट रजिस्ट्रेशन की सुविधा उपलब्ध करायी जायेगी। युवाओं को यह सुविधा महज सरकारी टीकाकरण सत्र स्थलों पर ही उपलब्ध हो सकेगा। इसके लिये युवाओं को अपने परिचय पत्र, आधार सहित अन्य दस्तावेज के साथ टीकाकरण सत्र स्थल पर पहुंचना अनिवार्य होगा| प्राइवेट संस्थानों में टीकाकरण से पूर्व लोगों को पहले की तरह ही पूर्व रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य होगा।

मोबाइल व इंटनेट इस्तेमाल नहीं करने वालों को थी परेशानी :

कोरोना का टीका लगाने के लिये ऑन लाइन रजिस्ट्रेशन की अनिवार्यता के कारण 18 से 44 साल के मोबाइल व इंटरनेट का इस्तेमाल नहीं करने वाले युवाओं को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था। इसके साथ ही निर्धारित साइट पर पंजीकरण के बाद स्लॉट बुक कराने में उन्हें फजीहत झेलनी पड़ रही थी। मंत्रालय द्वारा कोविन पोर्टल पर किये गये बदलाव व इस आयु वर्ग के लोगों को ऑन स्पॉट रजिस्ट्रेशन की सुविधा उपलब्ध कराने से इन लोगों को लाभ होगा। अब वे अपने नजदीकी सत्र स्थल पर ऑन स्पॉट पंजीकरण का लाभ उठाते हुए कोरोना का टीका लगा सकेंगे।

वैक्सीन का होगा समुचित उपयोग :

सिविल सर्जन अररिया डॉ एमपी गुप्ता ने स्वास्थ्य मंत्रालय की इस पहल की सराहना करते हुए कहा कि इससे अधिक से अधिक युवाओं का टीकाकरण आसान होगा। कहा कि जिले की अधिकांश आबादी अब भी मोबाइल व इंटनेट की पहुंच से दूर है। ऐसे में वे टीकाकरण से वंचित हो रहे थे। इस नयी व्यवस्था से ऐसे लोगों को लाभ होगा। उन्होंने बताया कि ऐसा देखा जा रहा था कि कई लोग टीकाकरण स्लॉट बुक कराने के बावजूद टीका लेने सत्र स्थल पर नहीं पहुंच रहे हैं। इससे ड़े पैमाने पर टीका की बर्बादी हो रही थी। लिहाजा इस बदलाव के बाद बिना रजिस्ट्रेशन किये टीका लेने आने वाले लोगों को भी टीका लगाया जा सकेगा। इससे वैक्सीन की बर्बादी कम होगी।