कंघी से झड़े बालों को रखें संभाल, मिलेंगे चार हजार रुपये प्रति किलो, फेरीवाले हैं खरीदार!

धनबाद(न्यूज़ क्राइम24): कंघी करने के दौरान लड़कियों और महिलाओं के सिर के बाल अकसर काफी संख्या में झड़ जाते हैं। लड़कियां और महिलाएं अपने झड़े बालों कूड़ा समझकर फेंक देती हैं।लेकिन क्या आपको मालूम है कि अपने देश के बड़े शहरों में यह बाल लगभग छह हजार रुपये प्रति किलो में बिकते हैं। इन बालों को बड़े कारोबारी छोटे कारोबारियों से काफी मात्रा में खरीदकर विदेश में दुगुनी रेट में बेचते हैं। इससे उनको काफी आय हो जाती है। कई वर्षों से झरिया, धनबाद, गोविन्दपुर और इसके आसपास क्षेत्रों में एक सौ से अधिक साइकिल में छोटे-छोटे सामान बेचने वाले फेरीवाले ओने-पौने दाम में झड़े बालों को खरीद कर चार हजार रुपये प्रति किलो धनबाद में बेचते हैं।

यह काम झरिया व धनबाद में साइकिल से फेरी करने वाले कई वर्षों से कर रहे हैं।ज्यादातर फेरीवाले पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले के हैं। ये घर-घर जाकर कंघी से झड़े बालों के गुच्छा को बिना वजन के लेकर दो से 20 रुपये तक के सामान देते हैं। इन सामानों में बच्चों की सीटी, घिरनी, अंगूठी, झुनझुना कठपुतली और निम्न स्तर की छोटी कटोरी, थाली, गिलास दे देते हैं।झरिया में रहते हैं 50 से अधिक बाल खरीदने वाले फेरीवाले मुर्शिदाबाद पश्चिम बंगाल निवासी साइकिल में फेरी करने वाले शकूर सेठ का कहना है कि झरिया में कई वर्षों से कंघी से झड़े बड़े बालों को लेने का कार्य कर रहे हैं।

फिलहाल चौथाई कुल्ही में रहते हैं। हमारे दर्जनों साथी शमशेर नगर, शाह नगर आदि मुहल्लों में रहते हैं। सभी इस कार्य में वर्षों से लगे हैं। झरिया व धनबाद में लगभग एक सौ लोग इस पेशे से जुड़े हैं। सभी कंघी से झड़े बालों को लेने का काम करते हैं। धनबाद के व्यापारी कोलकाता के बड़े व्यापारियों को बेचते हैं बाल शकूर फेरीवाला का कहना है कि धनबाद गया पुल, केंदुआ और गोविंदपुर में कंघी से झड़े बाल को खरीदने वाले बड़े व्यापारी हैं। ये व्यापारी हम लोगों से बाल खरीदने के बाद इसे कोलकाता के बड़े व्यापारी को काफी ऊंचे दाम में बेचते हैं।

कोलकाता के व्यापारी इसे विदेशों में बेचते हैं। शकूर ने कहा कि हम लोगों को नफा कम और बड़े व्यापारियों को ज्यादा होता है। बड़े व्यापारी प्रति किलो लगभग डेढ़ से दो हजार रुपये कमा लेते हैं।विदेशों में विग में इस्तेमाल होते हैं कंघी से झड़े बड़े बाल।बकौल शकूर कंघी से झड़े बालों का डिमांड विदेशों में अधिक है। कोलकाता व अन्य जगह के बड़े व्यापारी इसे पूरा नहीं कर पाते हैं। झरिया, धनबाद ही नहीं कई अन्य जिलों में भी मुर्शिदाबाद के लोग साइकिल से फेरी कर झड़े बालों को खरीदने का कार्य करते हैं।

निराश शकूर ने कहा कि अधिकांश फायदा तो बड़े व्यापारी ही एक बार में कमाते हैं। हम लोग तो घर-घर जाकर कंघी से झड़े वालों को लेने का काम करते हैं। शकूर ने कहा कि पुरुष के सिर के झड़े या कटे बाल नहीं लेते हैं। इसे बड़े व्यापारी नहीं खरीदते हैं।न्यूज़ साभार