मानव धरती को जाना, खजाना को जाना, लेकिन अपने आप को नहीं जान सका

अररिया(रंजीत ठाकुर): सतपाल जी महाराज के अनुयायियों के द्वारा मानव उत्थान सेवा समिति के तत्वावधान में बथनाहा हाट चौक स्थित दो दिवसीय सत्संग समारोह का आयोजन किया गया है । सत्संग समारोह के आयोजक संतोष यादव ने सत्संग में आए हुवे महात्मा पियूषानंद जी , महात्मा तिलकानंद जी ,गोवर्धन वाई जी, आस्था बाई जी को पुष्प का माला पहनाकर सोमवार को मंच पर स्वागत किया.

सत्संग समारोह के उदघाटन समारोह के मौके पर सैकड़ो की संख्या में सत्संग प्रेमी मौजूद थे । वहीं सत्संग में आए हुए लोगो को संबोधित करते हुए महात्मा पियूषानंद जी ने कहा कि मानव ने धरती को जाना ,खजाना को जाना लेकिन अपने आप को नहीं जान सका । मानव सारी जिंदगी दिन रात धन संग्रह करता रहता है और अकूत संपति को जमा करने के लिए प्रयास भी करता है लेकिन अंत समय मे धन को साथ लेकर नहीं जा पाता है जबकि अपने जीते जी वे मानव सेवा से धर्म कर्म का जो फल पाते है उसे ही उस जन्म में भोग पाते है , आत्मा अमर रहती है सिर्फ तन बदल जाता है । वहीं उन्होंने कहा कि सत्संग सुनने से हमारे जीवन मे बहुत बदलाव आता है । वही सत्संग समारोह के आयोजक ने बताया कि सत्संग समारोह का समापन मंगलवार को किया जाएगा तथा सत्संग में आने वाले सभी सत्संग प्रेमियों के लिए भंडारा का भी आयोजन किया गया है।