कोरोना का टीका जिले के सभी लाभार्थियों तक पहुंचाने के लिए स्वास्थ्य विभाग प्रतिबद्ध

 कोरोना का टीका जिले के सभी लाभार्थियों तक पहुंचाने के लिए स्वास्थ्य विभाग प्रतिबद्ध
Advertisement

पूर्णिया(रंजीत ठाकुर): वैश्विक महामारी कोविड-9 के किसी भी तरह के स्ट्रेन से बचाव एवं सुरक्षित रहने के लिए एकमात्र उपाय कोरोना टीकाकरण ही है। वह भी पहला डोज लेने के बाद दूसरा डोज़ लिए बिना पूर्ण सुरक्षा संभव नहीं है। कोविड-19 की दूसरी डोज़ के बाद ही शरीर में एंटीबॉडी का निर्माण होता है। तब जाकर आपका शरीर कोरोना संक्रमण वायरस से लड़ने के लिए तैयार होता है। कोरोना का टीका जिले के सभी लाभार्थियों तक पहुंचाने के लिए स्वास्थ्य विभाग प्रतिबद्ध है। पूर्णिया प्रमंडल के अपर निदेशक (स्वास्थ्य सेवाएं) डॉ वीर कुंवर सिंह ने बताया हमलोगों के द्वारा लगातार सामूहिक प्रयास के कारण ही बेहतर नतीजे मिल रहे हैं। हालांकि अभी भी संक्रमण को लेकर खतरा बरकरार है। खासकर नए स्ट्रेन ओमिक्रोन को देखते हुए विशेष एहतियात बरतने की जरूरत है। प्रमंडल के पूर्णिया, किशनगंज, कटिहार एवं अररिया के लोगों से अपील करते हुए बताया कि किसी कारण आपलोगों ने अभी तक कोरोना का टीका नहीं लिया है तो प्राथमिकता के आधार पर टीका जरूर लगायें। क्योंकि वैश्विक महामारी से आम जनमानस को निजात दिलाने का यही एक मात्र उपाय बचा हुआ है।

Advertisement

अधिक उम्र के बुजुर्ग, गंभीर रोगों से ग्रसित, गर्भवती महिला एवं धात्री महिलाओं का टीकाकरण को लेकर दिया जा रहा है विशेष ध्यान: अपर निदेशक

स्वास्थ्य विभाग के क्षेत्रीय अपर निदेशक डॉ वीर कुंवर सिंह ने स्वास्थ्य विभाग से जुड़े संबंधित अधिकारियों को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि पूर्णिया, किशनगंज, कटिहार एवं अररिया ज़िलें के अंतिम व्यक्ति तक पहुंच कर उन्हें टीकाकृत करने के लिए हम सभी को अपना प्रयास जारी रखना होगा। ताकि इस महामारी को जड़ से मिटाया जा सके। वहीं उन्होंने यह भी बताया कि शत प्रतिशत टीकाकरण करने के लिए विभिन्न जिलों में लगातार मेगा टीकाकरण एवं विशेष टीकाकरण अभियान चलाकर लाभार्थियों को टीकाकृत किया जा रहा है। अधिक उम्र के बुजुर्ग, गंभीर रोगों से ग्रसित, गर्भवती महिला एवं धात्री महिलाओं का टीकाकरण पर विशेष रूप से ध्यान दिया जा रहा है। कुछ वैसे भी लाभार्थी मिले हैं जो टीका नहीं लेना चाह रहे थे। हमारे स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों एवं कर्मियों के द्वारा किसी तरह समझा बुझा कर उन्हें टीकाकृत करने का काम किया गया। ताकि उक्त को पूर्णरूपेण टीकाकरण से आच्छादित किया जा सके।

Advertisements
Advertisement

कोविड-19 के नए स्ट्रेन से बचने के टीकाकरण आवश्यक : सिविल सर्जन

सिविल सर्जन डॉ एसके वर्मा ने बताया हमारे देश में कोविड-19 संक्रमण वायरस के नए स्ट्रेन ओमिक्रॉन ने दस्तक दे दी है। कोरोना संक्रमण के मद्देनजर कई परिवारों ने खुद व दूसरों की सुरक्षा के लिए कोरोना की संपूर्ण डोज ले ली है। हमारे लिए टीकाकरण सुरक्षा कवच होने के साथ ही मास्क पहनने की आदत भी हो गई है। जिले में टीकाकरण के साथ-साथ कोरोना जांच के प्रति भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है। ज़िले के सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिया गया है कि जिले से बाहर रहने वाले जिलेवासी अपने घर वापस आ रहे हैं, तो उस दौरान जिले के सभी बस स्टैंड और रेलवे स्टेशनों पर कोविड-19 जांच कराना अतिआवश्यक है। इसके साथ ही जिन लोगों द्वारा टीका नहीं लिया गया है, उन्हें उसी वक्त टीकाकृत करने के बाद ही वापस उनके घर जाने की अनुमति दी जाएगी।कोरोना जांच के दौरान किसी व्यक्ति के संक्रमित होने की पुष्टि हो जाती है तो उन्हें विभागीय प्रोटोकॉल का अनुपालन कराते जाएं। नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर ले जाकर उन्हें सुविधाएं उपलब्ध कराया जाए। हालांकि टीकाकरण के बाद भी कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करना बहुत ही आवश्यक है।

न्यूज़ क्राइम 24 संवाददाता

Related post