जिलाधिकारी की अध्यक्षता में हुई स्वास्थ्य संबंधी मामलों की समीक्षात्मक बैठक

कटिहार(रंजीत ठाकुर): स्वास्थ्य सेवाओं की बेहतरी को लेकर लगातार प्रयास किये जा रहे हैं। सरकारी चिकित्सा संस्थानों को सुविधा संपन्न बनाते हुए आम लोगों तक बेहतर सेवा उपलब्ध कराने की कवायद की जा रही है। वहीं स्वास्थ्य योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन सुनिश्चित कराने की दिशा में कारगर पहल की जा रही है। इसी कड़ी में स्वास्थ्य संबंधी मामलों की समीक्षात्मक बैठक जिलाधिकारी उदयन मिश्रा की अध्यक्षता में आयोजित की गयी। इसमें स्वास्थ्य योजनाओं की गहन समीक्षा करते हुए उन्होंने जिले में स्वास्थ्य संबंधी मामलों की बेहतरी को लेकर कई जरूरी दिशा निर्देश दिये। बैठक में सिविल सर्जन डॉ डी. एन पांडेय, एसीएमओ डॉ. कनिका रंजन, डीआईओ डॉ. डी एन झा, डीपीएम डॉ. किशलय कुमार, डीएमएनई राजेश कुमार झा सहित अन्य स्वास्थ्य अधिकारी उपस्थित रहे।

स्वास्थ्य सेवाओं में गुणात्मक सुधार का करें प्रयास :

स्वास्थ्य योजनाओं की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि स्वास्थ्य संस्थाओं में उपलब्ध सेवाओं में गुणात्मक सुधार को लेकर कारगर प्रयास जरूरी है। इस दिशा में सरकार द्वारा संचालित लक्ष्य प्रमाणीकरण कार्यक्रम व कायाकल्प योजना के संचालन को उन्होंने महत्वपूर्ण बताया। डीएम ने कहा कि बीते दिनों जिले के चिह्नित स्वास्थ्य संस्थानों ने लक्ष्य व कायाकल्प प्रमाणपत्र प्राप्त करने में सफलता हासिल की है। जिले के अन्य स्वास्थ्य संस्थानों को भी इस दिशा में कारगर प्रयास करने की जरूरत है।

राज्य स्तरीय समीक्षा में बेहतर प्रदर्शन करायें सुनिश्चित :

समीक्षात्मक बैठक में जिलाधिकारी उदयन मिश्रा ने कहा कि राज्य स्वास्थ्य समिति मई माह से हर महीने विभिन्न जिलों में स्वास्थ्य संबंधी योजनाओं के क्रियान्वयन संबंधी मामलों की समीक्षा करते हुए रैकिंग की प्रक्रिया शुरू करने जा रही है। इसमें योजनाओं के क्रियान्वयन में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले 13 जिलों को गोल्ड, अन्य 13 जिलों सिल्वर व शेष बचे जिलों को ब्रांन्च मैडल से पुरस्कृत किये जाने की योजना है। उन्होंने स्वास्थ्य अधिकारियों को राज्य स्तरीय इस समीक्षा में बेहतर प्रदर्शन सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया।

नीति आयोग के डेल्टा रैंकिंग में जिला का बेहतर स्थान :

सिविल सर्जन डॉ डी. एन पांडेय ने कहा कि नीति आयोग द्वारा जारी डेल्टा रैंकिंग में कटिहार जिला के स्वास्थ सेवा का अच्छा स्थान है। इसके लिए जिलाधिकारी द्वारा प्रशस्ति पत्र व अवार्ड देकर सम्मानित भी किया गया। इसके साथ ही जिले के कुछ प्रखंडों को लक्ष्य सर्टिफिकेट भी मिला है जिसका वितरण जिलाधिकारी द्वारा सम्बंधित प्रखंड चिकित्सा अधिकारियों को किया गया। अन्य प्रखंडों को भी स्वास्थ्य सेवा में बेहतर प्रदर्शन करना चाहिए ताकि उन्हें भी राज्य स्तर पर पहचान प्राप्त हो सके। बैठक में डीएमएनई राजेश कुमार झा द्वारा जिलाधिकारी को प्रखंड स्तर पर हुए स्वस्थ कार्यों की डेटा प्रस्तुत की गई।

स्वास्थ्य योजनाओं का होगा प्रभावी क्रियान्वयन :

बैठक के संबंध में जानकारी देते हुए डीपीएम स्वास्थ्य डॉ किसलय कुमार ने बताया कि समीक्षात्मक बैठक में जिलाधिकारी ने जिले के सभी चिकित्सा संस्थानों स्वास्थ्य सेवाओं की बेहतरी को लेकर जरूरी निर्देश दिये हैं। जिलाधिकारी से प्राप्त सुझाव मार्गदर्शन को ध्यान में रखते हुए जिले के विभिन्न चिकित्सा संस्थानों में मातृ-शिशु देखभाल, ओपीडी व इमरजेंसी सेवाओं के बेहतरी को लेकर जरूरी कदम उठाये जायेंगे। इतना ही नहीं स्वास्थ्य योजनाओं का प्रभावी क्रियान्वयन सुनिश्चित कराते हुए स्वास्थ्य कार्यक्रमों के संचालन को लेकर राज्य स्तरीय रैकिंग में बेहतर प्रदर्शन सुनिश्चित कराने की दिशा में कारगर पहल किये जाने की बात उन्होंने कही।