55 की उम्र में शंकर प्रसाद ने रचाई दूसरी शादी, पहली पत्नी ने महिला थाना में कराए मामला दर्ज

नालंदा(राकेश): कहा जाता है प्यार अंधा होता है जिसका जीता जागता उदाहरण सोहसराय थाना क्षेत्र के सिंगार सिंगार हाट निवासी शंकर प्रसाद ने चरितार्थ कर दिखाया है दूसरे पत्नी के होते हुए भी 28 वर्षीय महिला से विगत 7 अप्रैल को बाबा मनीराम अखाड़ा परिसर में दूसरी शादी रचा ली जिसका विरोध प्रथम पत्नी उषा देवी ने अपने पति शंकर प्रसाद के विरुद्ध महिला थाने में मामला दर्ज कराया दर्ज मामले में महिला थाना पुलिस ने आरोपी शंकर प्रसाद एवं पहली पत्नी उषा देवी को थाने में बुलाया गया जिसके बाद दोनों पति पत्नी को आपसी सुलह कर मामले का निपटारा कराने का प्रयास कराया गया परंतु दोनों पति पत्नी आपसी सुलह के लिए रजामंद नहीं हुई और मामला न सुलझता देख महिला थाना पुलिस ने दोनों पक्षों ने सक्षम न्यायालय भेजा दिया गया आवेदकी उषा देवी ने बताया कि लगभग 28 वर्ष पूर्व शंकर प्रसाद से हिंदू रीति रिवाज के तहत विवाह हुआ था वैवाहिक जीवन अच्छे से बीत रहा था हम दोनों से एक 21 वर्षीय पुत्री भी है 2 माह पूर्व पुत्री की शादी किया है और हमारे पति 7 अप्रैल को हमें जीवित रहते हुए दूसरी शादी रचा ली है जिसका हम लोग विरोध किया तो मेरे साथ मानसिक एवं शारीरिक रूप से प्रताड़ित किया गया उन्होंने बताया कि अगर हमारा पति दूसरी पत्नी के साथ रहना चाहता है तो वो रहे परंतु हमें जीवन यापन के रूप में 12000 भत्ते के रूप में दिया जाए और संपत्ति का बंटवारा कर हमें और हमारी पुत्री को दिया जाए वही आरोपी पति शंकर प्रसाद ने बताया कि हम दोनों पत्नियों को रखने को तैयार हैं किसी भी प्रकार के कोई भी परेशानियां नहीं होने देंगे।