कार्यपालक सहायकों बैठक आयोजित कर कई विन्दुओं पर किया विचार विमर्श

अररिया(रंजीत ठाकुर): बिहार राज्य कार्यपालक सहायक सेवा संघ, बिहार के तत्वधान में जिला इकाई अररिया के बैनर तले जिले के सभी विभाग में कार्यरत सभी कार्यपालक सहायक दिनांक 14.03.2021 को सुभाष स्टेडियम में बैठक आयोजित की गई । बैठक में बिहार प्रशासनिक सुधार मिशन सोसाइटी निर्देश निमित उच्च स्तरीय समिति की अनुशंसाओ को लागू नहीं किये जाने और पूर्वकालिक लंबित मांगो की पूर्ति नहीं होने के कारण जिले भर के सभी कार्यपालक सहायक दिनांक 15.03.2021 से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने को लेकर विचार-विमर्श किया । इस बैठक में सर्वप्रथम आज के कार्यकारी अध्यक्ष श्री अलोक कुमार झा ने कहा कि बिहार राज्य के संघ द्वारा मांगो को पढ़ कर बिहार प्रशासनिक सुधार मिशन सोसाइटी की दिनांक 05.02.2021 को आयोजित 29 वीं बैटक की कार्यावली की कंडिका 06, 07, 08, 09 में लिए गये निर्णय को तत्काल प्रभाव से निरस्त किया जाय।उन्होंने आगे बताया कि कैसे सरकार हमलोगो को आउटसोर्सोंगिंग करने की मंशा रखती है। उन्होंने कहा कि कार्यपालक सहायकों के निमित उच्च स्तरीय समिति की अनुशंसाओं को मुलभुत में लागू किया जाय। सभी कार्यमुक्त कार्यपालक सहायक को समायोजित करना, न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता इंटर करना और उसको स्थायी करना जैसे कई मुद्दे सभी कार्यपालक सहायकों के सामने रखा.

बैठक में संघ के पूर्व कोषाध्यक्ष रोहन कुमार को अनिश्चितकालीन हड़ताल का कार्यकारी अध्यक्ष का चयन करने का निर्णय लिया गया ।उन्होंने अपना अनुभव साझा करते हुए कहा कि अगर हम सबों के द्वारा अभी हड़ताल नहीं किया तो जल्द ही हम सभी को बाहर का रास्ता दिखाया जा सकता है। आगे उन्होंने कहा कि उनका नाम जिले के पैनल में टॉप सूची होने के बाद भी नौकरी से बाहर किया और जिसको बिहार प्रशासनिक सुधार मिशन सोसाइटी के ध्यान आकृष्ट करते हुए करीब डेढ़ साल बाद समायोजन किया गया.

बैठक की कार्यवाई में आगे श्री अमरेन्द्र कुमार कुसुम ने कहा कि हमलोगों के पक्ष में उच्च स्तरीय समिति के निर्णय लेने के बाद भी उसको लागू नहीं करना सरकार की मंशा को दर्शता है, जिस वजह से आज हम सभी अनिश्चितकालीन हड़ताल को विवश हैं। बैठक के धन्यवाद ज्ञापन में बेएसा, अररिया के अध्यक्ष श्री मनीष कुमार ठाकुर ने बैठक में मौजूद सभी लोगों से कहा की कल से हो रहे हड़ताल की बैठक में आने के लिए सभी धन्यवाद के काबिल है और आज की भागीदारी देख कर ही हम सभी का मनोबल काफी बढ़ गया है, साथ ही उन्होंने कहा कि हड़ताल के दौरान किसी प्रकार की चिठ्ठी विभाग के द्वारा निर्गत किया जायेगा,जिसमें हमलोगों को नौकरी से निकलने की चेतावनी भी दी जा सकती है, पर हम सभी एकजुट रहे तो सरकार को झुकना पड़ेगा। हमने सरकार और बिहार प्रशासनिक सुधार मिशन सोसाइटी के लिए निर्णय को लागू का बहुत दिनों तक इंतज़ार किया है, पर अब हम हड़ताल करने को मजबूर हैं.

बैठक में संघ के सचिव मनीष कुमार कश्यप, उपाध्क्ष दीपा मजुमदार, मिडिया प्रभारी आदित्य प्रियदर्शी, कोषाध्यक्ष दिलशाद आलम, दीपक कुमार, नरेन्द्र कुमार नीरज, सौरव कुमार, मुकेश कुमार, राज कुमार राज, अनुज कुमार, रंजन कुमार, मो सुब्हान, प्रियंका कुमारी, निकिता कुमारी, निधि कुमारी, अनुप्रिया, निधि कुमारी, सुदेशना गिरी, काजल कुमारी, अनिता कुमारी, अजीत कुमार आदि सक्रीय दिखे।