सुधा डेयरी मजदूरों ने मजदूर दिवस को मजदूर किसान एकता दिवस के रूप में मनाया

फुलवारीशरीफ(अजित यादव): ऐक्टू से सम्बद्ध पटना जिला निजी वाहन चालक एवं कर्मचारी यूनियन ,सुधा डेयरी के मजदूरों ने अंतरराष्ट्रीय मजदूर दिवस को मजदूर किसान एकता दिवस के रूप में मनाया। मई दिवस पर सुधा डेयरी से जुड़े मजदूरों ने कोविड नियमो का पालन करते हुए फुलवारीशरीफ मुख्य मार्ग पर मोदी-नीतीश सरकार विरोधी नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया. ऐक्टू राज्य सचिव सह यूनियन अध्यक्ष रणविजय कुमार, महासचिव मनीष कुमार उर्फ निनी,रंजीत कुमार के नेतृत्व में हुए प्रदर्शन से मोदी सरकार द्वरा कोरोना आपदा को पूंजीपतियों को लूट के अवसर में बदलने का आरोप लगाते हए मजदूर किसानों को गुलाम बनने वाला 8 घण्टा के बदले 12 घण्टा कार्य दिवस आदेश,4 श्रम कोड व 3 कृषि कानूनों को रद्द करने,कोरोना की आड़ में मजदूरों की छंटनी,मजदूरी में कटौती ,बढ़ती बेरोजगारी व महंगाई नही सहने का एलान किया.

वहीं बेकारी व महंगाई बढ़ाने वाली कॉरपोरेट परस्त निर्णयों का जोरदार मुखालफत किया और कोरोना से मची तबाही व हो रही मौत के लिए मोदी-नीतीश सरकार को ठहराते हुए  मोदी-नीतीश सरकार से ऑक्सीजन, बेड, वेंटिलेटर उपलब्ध कराने,अस्थायी कोरोना अस्पताल बनाने ,पूंजीपतियों पर 10% कोरोना टैक्स लगाने ,देश के प्रत्येक नागरिक को मुफ्त कोरोना टिका देने और ऑक्सीजन,दवा व उपकरणों पर जीएसटी समाप्त करने की मांग को जोरदार ढंग से उठाया।