ख़ास रिपोर्ट: आज है “वेलेंटाइन डे” , प्यार के साथ उन शहीद वीर जवानों को करें याद, दें श्रद्धाजंलि

[Written By: Robin Raj]

DESK(न्यूज़ क्राइम 24): पूरा देश इस फरवरी के महीने में प्रेम का त्योहार वेलेंटाइन डे यानी कि अपने “प्यार” के लिए समर्पित रहता है. यह 7 फरवरी से शुरू होता है और 14 फरवरी यानी आज इस डे का समापन है. इन दिनों कपल्स एक दूसरे को गुलाब, चॉकलेट और दूसरे उपहार देकर अपने प्यार का इजहार करते हैं. इसे दुनिया में प्यार का सबसे बड़ा त्योहार माना जाता है. लेकिन किसी को यह नहीं पता होगा की आज हमारे देश को आजाद कराने वाले भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव को लाहौर में फांसी की सजा सुनाई गई थी इसके साथ ही राज्य के पुलवामा जिले में जैश-ए-मोहम्मद के एक आतंकवादी ने विस्फोटकों से लदे वाहन से सीआरपीएफ जवानों की बस को टक्कर मार दी, जिसमें कम से कम 39 जवान शहीद हो गये और कई गंभीर रूप से घायल हुए थे.

वीरों की कुर्बानी को कैसे भूल सकते-

जी हाँ आप सभी को 14 फरवरी वेलेंटाइन डे तो याद है की प्यार का इजहार किस तरह किया जाता है लेकिन आप इन्हें कैसे भूल सकते है. जिन्होंने देश को आजाद करने में अपना बलिदान दिया. इस बात का बेहद ही अफसोस है की आज की युवा पीढ़ी को सब कुछ याद रहता है लेकिन देश के लिए बलिदान देने वाले वीरो की कुर्बानी नहीं याद रहती. अगर आज उन्होंने देश के लिए अपनी बलिदानी नहीं दी होती तो आप वेलेंटाइन क्या कोई भी दिन आजादी से नहीं मना रहे होते. लेकिन जिस तरह आज आप अपने प्यार के साथ वेलेंटाइन डे मनाएंगे ठीक वैसे ही अपने प्यार के साथ इन वीरों को भी सच्ची श्रद्धाजंलि देकर उनका सम्मान करेंगे.

तो इसलिए 14 फरवरी को प्यार का नाम दिया गया

दरअसल 14 फरवरी को वैलेंटाइंस डे के तौर पर मनाया जाता है. इसे इस रूप में मनाने की भी अपनी एक कहानी है. कहते हैं कि तीसरी शताब्दी में रोम के एक क्रूर सम्राट ने प्रेम करने वालों पर जुल्म ढाए तो पादरी वैलेंटाइन ने सम्राट के आदेशों की अवहेलना कर प्रेम का संदेश दिया, लिहाजा उन्हें जेल में डाल दिया गया और 14 फरवरी 270 को फांसी पर लटका दिया गया. प्रेम के लिए बलिदान देने वाले इस संत की याद में हर वर्ष 14 फरवरी को वैलेंटाइन डे मनाने का चलन शुरू हुआ.

“ब्लैक डे” के रूप में मनाने की अपील-

वहीं दूसरी ओर वैलेंनटाइन डे के विरोध में युवाओं ने 14 फरवरी को बलिदान दिवस मनाने की तैयारी की है. ऐसी कई संस्थान और सामाजिक लोग है जो 14 फरवरी यानी “ब्लैक डे” मनाने को लेकर सोशल मीडिया के जरिए भी युवाओं को जोड़ने की कोशिश कर रहे है. ताकि आज के दिन सभी उन वीर जवानों को एक सच्ची श्रद्धांजलि दें।