होम्योपैथी की भूमिका पर सेमिनार आयोजन किया गया

पटनासिटी: मानव जीवन के लिए होम्योपैथिक वरदान है। इंडियन होम्योपैथिक ऑर्गेनाइजेशन द्वारा राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक सह चिकित्सा के क्षेत्र में होम्योपैथी की भूमिका पर सेमिनार आयोजन किया गया। कार्यक्रम का विधिवत उद्घाटन सामूहिक रूप से डॉक्टर ए. नाथ, डॉक्टर एन.पी. सिंह, डॉक्टर ए.के. फौज द्वारा आगत अतिथियों का स्वागत राष्ट्रीय महासचिव डॉक्टर आर .पी. सिंह ने किया। जबकि संचालन राजेश राज ने की अध्यक्षता डॉक्टर.जे. पी रघुवंशी ने किया। वक्ताओं ने कहा दुनिया भर में कोरोना फिर से अपना पांव पसार रही है और भारत में भी कोरोना पॉजिटिव की संख्या बढ़ रही है। संपूर्ण भारत से आए होम्योपैथिक चिकित्सकों ने अपने अपने राज्य से इसकी रोकथाम और निरोधक दवा आर्सेनिक अल्बम, ब्रायोनिया अल्बम, इनफ्लुएंजीनम, कैम्फर कैंसर दवा का इस्तेमाल कराएंगे। क्योंकि इससे पहले भारत में लगभग 2 करोड़ लोगों को इन दवाओं का सेवन कराया गया। और वे शत् प्रतिशत सुरक्षित एवं स्वस्थ्य है.

मानव जीवन के लिए होम्योपैथिक वरदान हैं। समारोह में यूपी, बंगाल, छत्तीसगढ़, शिलांग,सिक्किम, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश, आदि इस जगह से चिकित्सक लोग शामिल हुए। जिनमें डॉक्टर एन.पी. सिंह, डॉक्टर प्रो. रेणु सिंह, डॉक्टर ए. के. सिंह, डॉक्टर ए. नाथ, डॉक्टर प्रो. नरेन्द्र सिंह, डॉक्टर प्रिस्टी, डॉक्टर कविता, डॉक्टर रिया, डॉक्टर पी. के प्रभात, डॉक्टर ओम प्रकाश दास, डॉक्टर राजीव वर्मा, डॉक्टर प्रकाश डॉक्टर अरुण प्रकाश, डॉक्टर अयोध्या ठाकुर ने किया।कार्यक्रम के अंत में धन्यवाद ज्ञापन सीतामढ़ी के डॉक्टर एम.के. झा ने दिया।