सदर अस्पताल परिसर स्थित पोषण पुनर्वास केंद्र आइसोलेशन वार्ड में हुआ तब्दील

अररिया(रंजीत ठाकुर): जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। इसे देखते हुए स्वास्थ्य विभाग संक्रमित मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध कराने की दिशा में प्रयासरत है। जैसे-जैसे मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है। आइसोलेशन की सुविधा को भी विस्तारित किया जा रहा है। इसी क्रम में सदर अस्पताल परिसर स्थित पोषण पुनर्वास केंद्र को आइसोलेशन वार्ड में तब्दील किया गया है। जहां मरीजों को आइसोलेशन से जुड़ी तमाम तरह की सुविधा सहजता से उपलब्ध हो सकेगी.

एक साथ 13 लोगों को आइसोलेट करने का होगा इंतजाम :

सदर अस्पताल के पोषण पुनर्वास केंद्र में कोरोना संक्रमित मरीजों के लिये बनाये गये आइसोलेशन वर्ड में एक साथ 13 मरीजों को आइसोलेट करने का इंतजाम होगा। आइसोलेशन वार्ड में इलाजरत मरीजों के लिये ऑक्सीजन के इंतजाम के साथ-साथ उनके खान-पान, मनोरंजन व बेहतर चिकित्सकीय सेवाओं को लेकर पर्याप्त इंतजाम सुनिश्चित कराये गये हैं। इस संबंध में सदर अस्पताल के प्रबंधक विकास आनंद ने बताया मरीजों को यहां समुचित चिकित्सकीय सेवाओं के साथ किसी आपात स्थिति से निपटने का समुचित इंतजाम किया गया है। आइसोलेशन केंद्र पर निर्धारित बेड से अधिक संख्या में मरीजों के आने पर उन्हें फारबिसगंज में संचालित आइसोलेशन सेंटर पर भेजा जायेगा। अगर किसी मरीज की तबीयत बिगड़ती है तो उसे बेहतर इलाज के लिये हायर सेंटर रेफर किया जायेगा। ताकि उन्हें तत्काल जरूरी चिकित्सकीय सेवाएं उपलब्ध हो सके.

आम मरीजों के सुरक्षा के लिहाज से लिया गया निर्णय :
इस संबंध में सदर अस्पताल के प्रभारी अधीक्षक डॉ राजेश कुमार ने बताया सदर अस्पताल में पहले से ही 10 बेड क्षमता वाला आइसोलेशन वार्ड संचालित था। लेकिन अस्पताल के मुख्य भवन में आइसोलेशन वार्ड के संचालित होने से इलाज के लिये यहां आने वाले आम मरीजों के संक्रमित होने की संभावना हमेशा बनी रहती थी| इसे देखते हुए आइसोलेशन वार्ड को सदर अस्पताल परिसर स्थित पोषण पुनर्वास केंद्र में शिफ्ट किया गया है। जहां अलग से स्वास्थ्य अधिकारी व कर्मी प्रतिनियुक्ति किये जाने हैं।