कोविड संक्रमण को देखते हुए आरडीडी की अगुआई में विशेष टीम ने सदर अस्पताल का किया निरीक्षण

 कोविड संक्रमण को देखते हुए आरडीडी की अगुआई में विशेष टीम ने सदर अस्पताल का किया निरीक्षण
Advertisement

अररिया(रंजीत ठाकुर): राज्य स्वास्थ्य समिति के निर्देश पर गुरुवार को वरीय स्वास्थ्य अधिकारियों की विशेष टीम की मौजूदगी में सदर अस्पताल परिसर स्थित पीएसए ऑक्सीजन प्लांट की क्रियाशीलता को परखने के उद्देश्य से मॉक ड्रिल का संचालन किया गया। स्वास्थ्य अधिकारियों की विशेष टीम में आरडीडी पूर्णिया वीर कुंवर सिंह, राज्य कार्यक्रम प्रबंधक मसूद आलम, यूनिसेफ के आरपीएम नजमुल हौदा सहित अन्य शामिल थे। मॉक ड्रिल के क्रम में ऑक्सीजन प्लांट की शुद्धता के स्तर के साथ-साथ प्लांट के जरिये प्रवाहित ऑक्सीजन के दबाव का गहनता पूर्वक मुआयना किया गया। इस क्रम में अस्पताल के प्रभारी अधीक्षक डॉ राजेंद्र कुमार, अस्पताल प्रबंधक विकास आनंद सहित अन्य स्वास्थ्य कर्मी मौजूद थे।

Advertisement

सफलता पूर्वक संचालित हो रहा है पीएसए प्लांट :

निरीक्षण के उपरांत आरडीडी पूर्णिया वीर कुंवर सिंह ने मॉक ड्रिल को पूर्णत: सफल बताया। उन्होंने बताया कि मॉक ड्रिल के क्रम में प्लांट द्वारा उत्सर्जित ऑक्सीजन की शुद्धता का स्तर 95 प्रतिशत पाया है। निर्धारित मानकों के आधार पर ऑक्सीजन की शुद्धता का स्तर 90 से 96 प्रतिशत होना चाहिये। इसी तरह प्रवाहित ऑक्सीजन के दबाव का मानक 04 से 06 बीएआर निर्धारित है। सदर अस्पताल में स्थापित पीएसए प्लांट द्वारा प्रवाहित ऑक्सीजन का दबाव 05 बीएआर पाया गया। इसके आधार पर निर्धारित मानकों के अनुरूप प्लांट संचालित पाया गया।

इमरेजेंसी सेवाओं व प्रसव संबंधी सेवाओं का लिया जायजा :

Advertisements
Advertisement

अधिकारियों की टीम ने अस्पताल में संचालित ओपीडी व इमरजेंसी सेवाएं के साथ प्रसव संबंधी सेवाओं का बारीकी से मुआयना किया। राज्य कार्यक्रम प्रबंधक मसूद आलम ने प्रसव वार्ड में ड्यूटी पर तैनात कर्मियों से उपलब्ध प्रसव संबंधी सेवाओं के बारे में गहन पूछताछ की। उन्होंने कर्मियों को प्रसव पीड़िताओं को सम्मानित मातृत्व सेवाएं उपलब्ध कराने का निर्देश दिया । निरीक्षण के क्रम में बताया कि औसतन सदर अस्पताल में 70 से 75 प्रसव संबंधी मामलों का निष्पादन किया जाता है। प्रसव वार्ड में कर्मियों के कमी की समस्या से अधिकारियों को अवगत कराया गया। कोरोना संक्रमण के संभावित खतरों को देखते हुए सरकार द्वारा निर्धारित गाइडलाइन के अनुरूप सेवाओं के संचालन का निर्देश राज्य कार्यक्रम प्रबंधक ने कर्मियों को दिया।

संक्रमण के संभावित खतरों को देखते हुए बरती जा रही विशेष सतर्कता :

स्वास्थ्य अधिकारियों की विशेष टीम में शामिल यूनिसेफ के आरपीएम नजमुल हौदा ने बताया कि देश के कई राज्यों में संक्रमण का मामला पुन: तेजी से फैल रहा है। इसे देखते हुए स्वास्थ्य विभाग विशेष सतर्कता बरत रहा है। इसी क्रम में प्रमुख अस्पताला में उपलब्ध विशिष्ट सेवाओं के संचालन को सुदृढ़ करने का प्रयास किया जा रहा है। निरीक्षण के नतीजों पर संतोष व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि अस्पताल के 78 बेड ऑक्सीजन पाइप लाइन से जुड़े हैं। जो जरूरतमंद मरीजों के लिये फायदेमंद साबित हो रहा है। बीते दिनों की तुलना में अस्पताल के प्रसव वार्ड में ज्यादा सुविधा जनक बनाया गया है। अस्पताल को राज्यस्तरीय लक्ष्य प्रमाणीकरण प्राप्त हो चुका है। जल्द ही केंद्र स्तर से प्रमाणीकृत होने का भरोसा उन्होंने दिया।

न्यूज़ क्राइम 24 संवाददाता

Related post