कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव हो या निगेटिव, मरीज को भर्ती करने से मना नहीं कर सकते अस्पताल

नई दिल्ली: कोरोना वायरस से मची हाय तौबा के बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बड़ा फैसला किया है. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक यदि किसी मरीज के पास कोरोना रिपोर्ट नहीं है तो उसे अस्पताल में भर्ती करने से मना नहीं किया जा सकता।कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव हो या निगेटिव लेकिन मरीज को अस्पताल में इलाज के लिए जगह जरूर दी जायेगी.स्वास्थ्य मंत्रालय ने बड़ा कदम उठाते हुए कोरोना की राष्ट्रीय नीति में बदलाव किया है।नई नीति के तहत कोविड हेल्थ फेसिलिटी में बिना पॉजिटिव रिपोर्ट के भी अस्पताल में भर्ती किया जा सकता है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों से कहा है कि अस्पतालों में कोरोना के संदिग्ध मरीजों को भी जगह सुनिश्चित की जाए.स्वास्थ्य मंत्रालय ने अस्पताल में भर्ती होने के मानदंडों को संशोधित किया है. इसके साथ ही राज्यों को यह सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है कि सभी कोविड संदिग्ध रोगियों का भी अस्पताल में उपचार सुनिश्चित किया जाये।