मलबे में दबकर दो मजदूरों की मौत

धनबाद: बीसीसीएल मुनीडीह प्रोजेक्ट में दूसरी पाली में खदान धंस गई. इसके मलबे में ठेके पर काम कर रहे दो मजदूर दब गए. उन्हें किसी तरह मलबे से निकालकर धनबाद सेंट्रल अस्पताल ले जाया गया. यहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया. मृत मजदूरों का नाम 43 वर्षीय विजय यादव और 42 वर्षीय निर्मल गोराई बताया गया है. हादसे की सूचना पर लोग आक्रोशित हो गए. सूचना पर परिजन और स्थानीय लोग भी पहुंच गए. उन्होंने कोलियरी कार्यालय के सामने मजदूरों के शव रख दिए और प्रदर्शन करने लगे. नाराज लोग मृतकों के आश्रितों के लिए नौकरी और मुआवजे की लोग मांग कर रहे हैं.

घटनास्थल पर प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि हम सभी खदान के डी 16 ए बॉटम गेट आरएच(1) में काम कर रहे थे. दो मजदूर माइंस में खनन के लिए काफी अंदर गए थे, तभी साइड धंस गई. इसकी चपेट में विजय यादव और निर्मल गोराई आ गए. दोनों कोयले के मलबे की वजह से बुरी तरह जख्मी हो गए. हादसे के बाद वहां भीड़ लग गई. वहां पर काम कर रहे दूसरे कर्मचारियों और दूसरे फेस के मजदूरों ने किसी तरह मलबा हटाया. काफी मशक्कत के बाद मलबे में फंसे दोनों मजदूरों को निकालने के बाद उन्हें स्ट्रेचर के सहारे मुनीडीह क्षेत्रीय अस्पताल पहुंचाया गया. यहां से प्राथमिक उपचार के बाद दोनों को गंभीर स्थिति में धनबाद सेंट्रल अस्पताल रेफर कर दिया गया. सेंट्रल अस्पताल में चिकित्सकों ने दोनों घायलों को मृत घोषित कर दिया. दोनों मजदूर मुनीडीह प्रोजेक्ट के लिए काम कर रही सिंह एंड संस कंपनी के कर्मचारी बताए जा रहे हैं.

इस मसले में बीसीसीएल प्रबंधक का कहना हैं कि खदान में दूसरी पाली में कुल 15 ठेका मजदूर काम करने ले लिए भीतर गए थे. इस दौरान ही दर्घटना हो गई. इसमें दो मजदूर की मौत हो गई है, हम हादसे की जांच कर रहे हैं. मृतक के परिजनों को जो भी मदद हो सकती है, बीसीसीएल से दिलाने की कोशिश करेंगे.

15 मीटर लंबा कोयले का टुकड़ा गिरा-

प्रबंधक का कहना है कि घटनास्थल पर करीब पांच मजदूर काम कर रहे थे. इसी दौरान करीब एक मीटर चौड़ा और 15 मीटर लंबा कोयले का मलबा किनारे से गिर गया. वहां कार्य कर रहे तीन अन्य मजदूरों ने किसी तरह भाग कर अपनी अपनी जान बचाई, जबकि दो दब गए।