हेमंत सोरेन ने कोरोना वैश्विक महामारी पर चिंता जाहिर की

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कोरोना वैश्विक महामारी पर चिंता जाहिर की है. हेमंत सोरेन ने कहा कि कोरोना वैश्विक महामारी का एक साल बीत जाने के बावजूद कोरोना का खौफ बरकरार है.मीडिया से बातचीत करने के दौरान कहा कि कुछ महीने पहले देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या बहुत तेजी से घट रही थी लेकिन कुछ राज्यों में कोरोना के मामले अचानक से बढ़ने लगे.

इसी मामले को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूरे राज्य के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर कोरोना मामले की जानकारी ली और मुख्यमंत्रियों की बातें सुनी।हेमंत सोरेन ने कहा कि अभी भी सतर्कता बनाए रखनी होगी और कोरोना गाइडलाइंस का पालन करते हुए आगे बढ़ना होगा. उन्होंने कहा कि आठवीं तक के स्कूलों को अभी नहीं खोले गये हैं और हजार से अधिक भीड़भाड़ इलाके को प्रतिबंधित किया गया है।सोरेन ने कहा कि राज्य भर के अलग-अलग जिलों में कोरोना के मामले को नजर में रखा गया है और एयरपोर्ट पर कोराना टेस्टिंग की सुविधा शुरू की गई है. रेलवे स्टेशन पर आ रहे यात्रियों का भी कोरोना टेस्ट कराने के लिए विचार किया जा रहा है.

उन्होंने कहा कि पंचायत स्तर पर भी कोरोना वैक्सीन आसानी से उपलब्ध हो इसके लिए हमलोग लगातार प्रयासरत हैं. हेमंत सोरेन ने कहा कि कोरोना वैश्विक महामारी आज भी हमारे इर्द-गिर्द घूम रही है और इन से बच कर रहना होगा.

उन्होंने जनता से आग्रह किया कि मास्क अवश्य लगाएं और भीड़भाड़ वाले इलाके में जाने से परहेज करें. राज्य भर में पांच लाख से अधिक लोगों को कोरोना वैक्सीन दिया जा चुका है. हेमंत सोरेन ने कहा कि कोराना वैश्विक महामारी से झारखंड को जल्द ही कोरोना मुक्त बना लिया जाएगा. हेमंत सोरेन ने कहा कि रांची में कोरोना टेस्टिंग की संख्या बढ़ाई जाएगी।