कोरोना के मरीजों से फुल हुआ पटना एम्स, अस्सी बेड की ही व्यवस्था है भर्ती हो गए 95 कोविड मरीज

फुलवारीशरीफ(अजित यादव): अगर आप कोरोना मरीजों को इलाज के लिए एम्स पटना जाना चाहते हैं तो पहले जान लीजिए एम्स में कोविड 19 वार्ड की कुल 80 बेड फूल हो चुका है । उसके अलावा रविवार शाम तक 95 मरोजो को एडमिट किया जा चुका था जिन्हें नर्सिंग वार्ड में शिफ्ट कर उसे भी कोविड वार्ड बनाया गया है। राजधानी पटना पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण का हॉटस्पॉट बन गया है। पटना एम्स सहित अधिकांश अस्पतालों में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ने के कारण बेड कम पड़ने लगे हैं। एम्स में सीट से ज्यादा मरीज के आने के कारण वहां अब अपना इलाज करवाने आने वाले लोगों मोबाइल पर रजिस्ट्रेशन कराना होगा.

एम्स पटना में कोरोना के बढ़ते मरीजो की संख्या को देखते हुए बेड बढ़ाने का काम चल रहा है। इसे लेकर एम्म्स में अन्य मरीजो में मात्र 50 मरीजो को हो ओपीडी में देखा जा रहा है । एम्स नोडल कोरोना ऑफिसर डॉ संजीव कुमार ने बताया कि कोरोना संक्रमित मरीज सबसे ज्यादा पटना एम्स पहुंच रहे हैं। यहां पर बेड से ज्यादा मरीज़ भर्ती है। एम्स में अभी 95 कोरोना के मरीज एडमिट हैं, जबकि 80 बेड की ही अस्पताल में क्षमता है। नर्सिंग वार्ड का अलावा अन्य नए कोविड वार्ड की व्यवस्था किया जा रहा है जो सोमवार सुबह तक करीब 110 वार्ड हो सकता है ।वहीं पटना एम्स के अधीक्षक डॉ. सीएम सिंह ने कहा कि कोरोना का फिर से प्रकोप बढ़ रहा है। इसे देखते हुए एम्स में अब फिर से सीमित संख्या में मरीजों को देखा जायेगा।हर रोज एम्स के प्रत्येक विभाग में 50 मरीजों को ही देखा जायेगा। इसको लेकर भी एप्वॉइंमेंट लेना जरुरी होगा। एप्वॉइंमेंट के लिए एम्स की ओर से मोबाइल और टेलीफोन नंबर भी आज जारी कर दिया गया है.

9470702184/9430008970/9430008936/ 8470704435/06122451070 इन नंबरों पर रजिस्ट्रेशन के माध्यम से एप्वॉइंमेंट लेकर ही पटना एम्स इलाज के लिए आना पड़ेगा.

बता दें कि पटना के पीएमसीएच में अभी कोविड मरीजों के लिए 100 बेड की क्षमता है। यहां फिलहाल 300 मरीज एडमिट हैं। जबकि 70 बेड अब भी खाली हैं। इसी प्रकार से एनएमसीएच में 100 बेडों की क्षमता है, जहां अभी 13 कोरोना के पॉजिटिव मरीज एडमिट हैं। यहां पर 87 बेड अभी भी खाली हैं, इसके अलावे पटना के पाटलिपुत्र अशोक आइसोलेशन सेंटर में कुल 160 बेड की क्षमता है जहां अभी केवल 2 मरीज ही एडमिट हैं।