‘बाघ सखा टी-शर्ट पेंटिंग प्रतियोगिता’ का आयोजन

फुलवारीशरीफ(अजित यादव): मध्यप्रदेश टाइगर फाउंडेशन सोसाइटी बाघ संरक्षण ( भोपाल ) एवं यूथ हॉस्टल एसोसिएशन ऑफ भोपाल के संयुक्त तत्वाधान में बाघों के संरक्षण एवं इस के प्रति आम जनता को  जागरूक करने  के उद्देश्य से ‘बाघ सखा टी – शर्ट पेंटिंग प्रतियोगिता’ का आयोजन ‘यूथ हॉस्टल एसोसिएशन ऑफ इंडिया ,पाटलिपुत्र इकाई के सहयोग से कोरोना गाईड लाइन के तहत ,फाउंडेशन स्कूल,फुलवारीशरीफ में किया गया | इस फाउंडेशन स्कूल के 50  से अधिक छात्र शामिल हुए | इस में नवम वर्ग की शांभवी ,दशम वर्ग की गीतांजली,सप्तम वर्ग की शौर्य और चतुर्थ वर्ग की बैष्णवी को क्रमशः प्रथम,द्वतीय ,तृतीय एवं चतुथ पुरस्कार मिला है | पुरस्कारों का वितरण स्कूल के निदेशक प्रदीप कुमार मिश्र,राजेश्वर मिश्र और ‘यूथ हॉस्टल एसोसिएशन ऑफ इंडिया ,बिहार स्टेट ब्रांच के उपाध्यक्ष सुधीर मधुकर ने संयुक्त रूप से किया.

निदेशक श्री मिश्र ने अपने संबोधन कहा कि आयोजन का मुख्य उद्देश्य बाघों का संरक्षण और इसकी प्रजाती को विलुप्त होने से बचाने के लिए जागरूकता लाना है | राजेश्वर मिश्र ने कहा पर्यावरण संतुलन के लिए बाघों के साथ-साथ सभी जीव प्राणियों का संरक्षण जरुरी है | बिहार एशोसियेशन के प्रदेश उपाध्यक्ष सुधीर मधुकर ने कहा कि इस साल अंतर्राष्ट्रीय बाघ दिवस का विषय है “उनका जीवन रक्षा हमारे हाथों में है” |  साल 2010 में भारत में बाघों की संख्या 1700 के करीब पहुंच गई थी |  जिसके बाद लोगों में बाघों के प्रति जागरुकता फैलाने के लिए साल 2010 में रूस के सेंट पीटर्सबर्ग में एक शिखर सम्मेलन का आयोजन किया गया |  जिसमें हर साल अंतरराष्ट्रीय बाघ दिवस मनाए जाने की घोषणा की गई |  इस सम्मेलन में कई देशों ने 2022 तक बाघों की संख्या को दोगुना करने का लक्ष्य रखा है. इस सफल आयोजन के लिए बिहार प्रदेश एशोसियेशन के अध्यक्ष मोहन कुमार,चेयरमैन केएन भरत,उपाध्यक्ष रीता कुमारी सिंह , शरत शलारपुरिया,सचिव एके बोस,प्रियेश रंजन,प्रमोद दत्त,डॉ.ध्रुव कुमार ,रतन कुमार मिश्र, रामनरेश ठाकुर ,संजीव कुमार जवाहर आदि ने सफल प्रतियोगियों को बधाई और शुभकामाना दिया है।