सम्पतचक में चार पंचायतों को नगर परिषद में मिलाने का विरोध में धरना

फुलवारीशरीफ(अजित यादव): सम्पत चक में चार पंचायतों को नगर परिषद में मिलाने का विरोध में धरना का आयोजन किया गया। धरना को संबोधित करते हूए नेताओ ने कहा कि चारों पंचायत में 75 से 80 प्रतिशत क्षेत्रफल में खेती की जा रही है । ग्राम पंचायत के विघटन से पैक्स द्वारा द्वारा किसान अपने उत्पादित उपज का न्यूनतम समर्थन मूल्य पर उत्पाद बेचते हैं । पंचायत के विघटन के साथ ही पेक्स का विघटन हो जायेगा , जिससे किसानों के समक्ष गंभीर समस्या उत्पन्न हो जायेगी । साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में कार्यरत मनरेगा मजदूरों के समक्ष भूखमरी की नौबत आ जायेगी । क्योंकि बैरिया कर्णपुरा में 2983 , भेलवाड़ा में 3277 , कनौजी कछुआरा 2201 एवं सोनागोपालपुर में 2887 निबंधित जॉब कार्ड पारी मजदूर हैं । ग्राम कचहरी के विघटन से ग्रामीण जनता को शुलभ न्याय हेतू न्यायालय की शरण में जाना पड़ेगा जिससे आर्थिक रूप से विपन्नता गरीबों पर आ जायेगी क्योंकि ग्राम कचहरी बैरिया कर्णपुरा में विगत 5 वर्षों में लगभग 300 से अधिक मामलों का निपटारा ग्राम कचहरीद्वारा की गई है.

धरना में माले नेता सत्यानंद , किसान जगदेव राय , रामप्रवेश सिंह , सुरेश प्रसाद यादव , सुरेन्द्र प्रसाद सिन्हा , कपिल चन्द्रवंशी , उमेश यादव , अनिल यादव , अभय यादव , अरूण कुमार , अरूण पासवान , डोमन मुखिया , हरदेव राय , संदीप यादव , रविन्द्र सिंह , चंदन सिंह , अजय कुमार सभी वार्ड सदस्य एवं पंचगण , वेद्य रविन्द्रनाथ , रामईश्वर केवट , राजमती देवी , प्रकाश आदि उपस्थित थे।