टीकाकरण की प्रक्रिया में तेजी लाने में धर्म गुरुओं का अपेक्षित सहयोग जरूरी : डीएम

  • जिलाधिकारी ने धर्म गुरुओं को टीकाकरण के विभिन्न पहलुओं से कराया अवगत
  • टीकाकरण को लेकर किसी तरह का अफवाह निराधार, सामूहिक प्रयास से सफल होगा अभियान
  • धर्म गुरु अपने माध्यम से लोगों के मन में टीकाकरण को लेकर व्याप्त शंकाओं को करें दूर

अररिया(रंजीत ठाकुर): कोरोना टीकाकरण की प्रक्रिया में तेजी लाने व समाज में इसे लेकर व्याप्त भ्रांतियों को दूर करने के उद्देश्य से गुरुवार को जिलाधिकारी प्रशांत कुमार सीएच ने जिले के विभिन्न धार्मिक संस्था के धर्म गुरुओं के साथ बैठक की। समाहरणालय परिसर स्थित परमान सभागार में हुई बैठक में कोरोना टीकाकरण के विभिन्न पहलुओं पर विस्तृत चर्चा की गयी। साथ ही टीकाकरण मामले में तेजी लाने के उद्देश्य से कारगर रणनीति पर विचार किया गया। धर्म गुरुओं ने कहा कोरोना के टीका को लेकर लोगों के मन में तरह-तरह की शंकाएं व्याप्त हैं। लोगों के मन में कई भ्रांतियां हैं। जिस वजह से लोग टीका लगाना नहीं चाहते। उन्होंने प्रशासनिक व स्वास्थ्य अधिकारियों से टीका के वैज्ञानिक पहलुओं से उन्हें अवगत कराने का अनुरोध किया। ताकि उनके माध्यम से समाज में इसे लेकर सही जानकारी प्रचारित व प्रसारित की जा सके। बैठक में सिविल सर्जन डॉ एमपी गुप्ता, जिला आपदा प्रबंधन पदाधिकारी पंकज कुमार गुप्ता, डीआईओ डॉ मोईज, डीपीएम रेहान असरफ, डीटीएल केयर पर्णा चक्रवती, डीटीएम पिरामल डॉ अफरोज, एसएमसी यूनिसेफ आदित्य कुमार, यूएनडीपी के वीसीसीएम शकील आजम सहित कई स्वास्थ्य अधिकारी, सहयोगी संस्था के प्रतिनिधि व बड़ी संख्या में धार्मिक संस्था के प्रतिनिधि मौजूद थे।

टीकाकरण को लेकर निराधार हैं किसी तरह के अफवाह:

जिलाधिकारी प्रशांत कुमार सीएच ने टीकाकरण को लेकर धर्म गुरुओं के मन में व्याप्त शंकाओं का वैज्ञानिक तथ्यों के आधार पर खंडन किया। उन्होंने कहा कि टीकाकरण को लेकर किसी तरह का अफवाह निराधार है। जो वैज्ञानिक तथ्यों से परे हैं। इसलिये यह जरूरी है कि इसे लेकर सही जानकारी समाज के लोगों के सामने परोसी जाये। कोरोना की दूसरी लहर पहली लहर से ज्यादा प्रभावी साबित हुई। स्वास्थ्य विशेषज्ञ इसकी तीसरी लहर को लेकर संदेह व्यक्त कर रहे हैं। संक्रमण से बचाव का टीकाकरण ही एक मात्र उपाय है। इसलिये शत-प्रतिशत लोगों का टीकाकरण सुनिश्चित कराना जरूरी है। ताकि संक्रमण की तीसरी लहर पर आसानी से काबू पाया जा सके। टीकाकरण अभियान की सफलता में धर्म गुरुओं के सहयोग व समर्थन को उन्होंने जरूरी बताया। टीकाकरण संबंधी मामलों को लेकर धर्म गुरुओं से विस्तृत चर्चा की गयी है। उन्हें टीका से होने वाले फायदे सहित अन्य पहलुओं से अवगत कराया गया है। समाज में जो अफवाह व्याप्त है। इसे वैज्ञानिक तथ्यों के आधार पर खंडन किया गया है। धर्म गुरुओं से यह अपेक्षा है कि वे समाज के लोगों के बीच टीकाकरण को लेकर सही जानकारी रखें। ताकि अभियान को सफल बनाया जा सके।

टीकाकरण अभियान की सफलता में धर्म गुरुओं का सहयोग महत्वपूर्ण:

सिविल सर्जन डॉ एमपी गुप्ता ने कहा बीते एक माह से टीका की उपलब्धता व मांग के बीच के अंतर के कारण जिले में टीकाकरण की रफ्तार थोड़ी सुस्त हुई है। इस बीच टीका को लेकर कुछ अफवाह भी क्षेत्र में फैले इस कारण लोग टीका लेने से परहेज करने लगे। इसे देखते हुए जिलाधिकारी ने धर्म गुरुओं के साथ बैठक कर तमाम अफवाहों का खंडन किया है। टीकाकरण की प्रक्रिया में तेजी लाने के उद्देश्य से उनसे अपेक्षित सहयोग की अपील की गयी है। ताकि हम टीकाकरण के निर्धारित लक्ष्य को हासिल कर सकें। डीपीएम रेहान अशरफ ने डीएम की अध्यक्षता में संपन्न बैठक को बेहद सफल बताते हुए कहा कि इससे समाज में लोगों के मन में व्याप्त शंकाओं का धर्म गुरुओं की मदद से दूर करने में मदद मिलेगी। डीएम ने सोशल मीडिया के माध्यम से तथ्यात्मक जानकारी धर्म गुरूओं के बीच साझा करने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि 18 साल से अधिक उम्र के लगभग जिले के 18 लाख लोगों का टीकाकरण किया जाना है। प्रति माह एक लाख लोगों के टीकाकरण का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। निर्धारित लक्ष्य को हासिल करने में आने वाले समय में धर्म गुरुओं की भूमिका महत्वपूर्ण साबित होने वाली है।