सरकार की कथनी और करनी में अंतर : गोपाल रविदास 

फुलवारीशरीफ(अजित यादव): शनिवार को पुनपुन प्रखंड के बीआरसी भवन में प्राथमिक ,मध्य और उच्च विद्यालय के शिक्षकों की संयुक्त बैठक की गई.इस बैठक में अबधेश भारती प्रखंड साधन सेवी,गजेन्द्र कुमार संकुल समन्वयक,धर्मेन्द्र कुमार संकुल समन्वयक,आदित्य कुमार दिवाकर शिक्षक एवं अखिलेश्वर प्रसाद शर्मा प्रधानाध्यापक द्वारा विधायक महोदय को माला पहनाकर एवं उपस्थित सभी शिक्षकों द्वारा स्पीड के तीन ताली बजाकर गर्म जोशी से स्वागत किया गया। बैठक का संचालन प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी ने की. संयुक्त बैठक में पुनपुन, श्रीपालपुर ,लखना मखदूमपुर, सपहुआ, लखना बाजार, मुस्तफापुर सहित दर्जनों विद्यालय के शिक्षकों ने विद्यालय की समस्या से जुड़े सवालों को बताया .शिक्षकों ने विधायक को बताया कि प्राथमिक और मध्य विद्यालय के शिक्षकों ने बताया की अधिकांश स्कूल के भवन जर्जर है और बिना चहारदिवारी के है तो कुछ लोगों ने कहा कि भवन का कागजात ही नहीं है जिसको लिए अंचलाधिकारी रसीद का अपडेट नहीं कर पा रहे हैं । वहीं कुछ लोगों ने कहा कि दबंग कुछ असामाजिक तत्व है जो दीवाल को घेराबंदी नहीं करने दे रहे हैं.

सभी शिक्षकों ने सर्वसम्मति से कहा कि मध्यान भोजन का चावल कम मिलता है दूसरी तरफ है प्रखंड के पदाधिकारी भी कटौती करते हैं. कुल मिलाकर के हम लोगों को 50 किलो में 35 किलो ही मिलता है. जिससे बच्चों के भोजन कराने में काफी संकट का सामना करना पड़ता है. किसी किसी गांव में मास्टर को चावल कम मिलने पर बच्चों और ग्रामीणों द्वारा प्रस्तावित हो ना पड़ता. शिक्षकों ने कहा कि हम सभी सेवा में लगे हुए हैं एक तो ऊपर भी प्रताड़ित होता है और समाज के कुछ दबंग ताकते हमें करते है .हमें सम्मान की जगह पर अपमान मिलता है.

स्थानीय विधायक गोपाल रविदास ने संयुक्त बैठक को संबोधित करते हुए सभी शिक्षकों से बिना डर भय और संकोच के सेवा कार्य में लगने की अपील की है .उन्होंने कहा कि चाहे कोई भी आपको प्रताड़ित करता है उसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा .हम आपके लिए हमेशा सहयोग में तत्पर रहेंगे .उन्होंने मध्यान भोजन पर चर्चा करते हुए कहा कि बिहार की तथाकथित नीतीश सरकार डंका पीट रही है कि मैं बच्चों को भोजन करा रहा हूं .बच्चे भारी संख्या में उस स्कूल में आ रहे हैं कहीं भी भवन की दिक्कत नहीं है .नई नई बिल्डिंग सभी जगह बन के तैयार है आज के मीटिंग से साफ हो गया है की सरकार के कथनी और करनी में अंतर है विकास की जगह पर जर्जर बिल्डिंग में शिक्षक और छात्र पढ़ने और पढ़ाने पर मजबूर है. जबकि खाना की जगह पर लूट मचा हुआ है. जिसके खिलाफ मुकम्मल तौर पर आवाज उठाने की जरूरत है. आने वाले विधानसभा के बजट सेशन में इसे उठाया जाएगा. बैठक में भाकपा माले नेता वह लोकप्रिय मुखिया जय प्रकाश पासवान ,संजय रविदास ,गुड्डू ,मदन पासवान, मिथिलेश कुमार ,राजद नेता पप्पू चंद्रवंशी, बाबू यादव, अनिल यादव सहित दर्जनों लोग भी मौजूद थे.

प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी महेश प्रसाद शर्मा, प्रखंड विकास पदाधिकारी उदय कुमार, अंचलाधिकारी इंद्राणी कुमारी, लेखापाल पंकज प्रकाश, प्रखंड प्रखंड साधन सेवी जितेन्द्र कुमार एवं राजीव कुमार भी उपस्थित रहे।