बिहार

नाईट ब्लड सर्वे को लेकर प्रखंड स्तरीय अधिकारी एवं कर्मी किये गए प्रशिक्षित


पटना, (न्यूज़ क्राइम 24) जिला मलेरिया कार्यालय में आज नाईट ब्लड सर्वे को लेकर प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन किया गया. कार्यशाला में 11 प्रखंडों के सीएचओ, बीएचएम एवं ए एन एम को प्रशिक्षण दिया गया. कार्यशाला में जिला वेक्टर जनित रोग नियंत्रण पदाधिकारी, डॉ. सुभाष चंद्र प्रसाद ने मुख्य प्रशिक्षक की भूमिका निभाई. उन्होंने कहा की जिला में 1 से 8 जुलाई तक नाईट ब्लड सर्वे का संचालन कर रक्त के नमूने इकठ्ठा किये जायेंगे. कार्यशाला में जिला मलेरिया कार्यालय से पंकज कुमार, कल्याणी कुमारी के साथ सहयोगी संस्थाओं के प्रतिनिधि मौजूद रहे.

28 जून तक माइक्रोप्लान भेजें सभी:


डॉ. सुभाष चंद्र प्रसाद ने शामिल प्रशिक्षुओं से कहा कि 28 जून तक सभी माइक्रोप्लान बनाकर जिला मलेरिया कार्यालय को भेजना सुनिश्चित करेंगे. उन्होंने नाईट ब्लड सर्वे की गुणवत्ता सुनिश्चित करने की बात भी कही. उन्होंने कहा कि सर्वे के उपरांत 14 जुलाई तक सभी प्रखंड निष्ट ब्लड सर्वे की रिपोर्ट जिला मलेरिया कार्यालय को भेजना सुनिश्चित करेंगे.

Advertisements
Ad 2

एमडीए अभियान से पूर्व नाइट ब्लड सर्वे जरूरी


10 अगस्त से जिले में सर्वजन दवा सेवन अभियान की शुरुआत होनी है लेकिन इसके पूर्व नाइट ब्लड सर्वे कराया जाता है ताकि जिले में माइक्रोफाइलेरिया दर का पता लगाया जा सके. जिस गांव में एक या एक प्रतिशत से अधिक माइक्रोफाइलेरिया दर पाया जाता है तो वहां एमडीए अभियान चलाया जाएगा और जहां एक प्रतिशत से कम माइक्रोफाइलेरिया दर पाया गया तो वहां एमडीए अभियान नहीं चलाया जाएगा. दो साईट एक सेंटिनल एवं एक रैंडम साईट चयनित किये जायेंगे. प्रत्येक साईट से 300 लोगों का ब्लड जांच करना है और जांच में आए रिपोर्ट के अनुसार एमडीए अभियान चलाना है.

Related posts

बेगूसराय में एक ही परिवार के चार बच्चों की डुबने से हुई मौत!

कार्य में लापरवाही बरतने वाले पुलिस कर्मियों पर होगी सख्त कार्रवाई : मुख्यमंत्री

उपविकास आयुक्त के अध्यक्षता में कार्यों की समीक्षा बैठक आहूत की गई