बिहार

संवर्धन व वास कार्यक्रम के तहत दो दिवसीय उन्मुखीकरण कार्यशाला आयोजित

अररिया, रंजीत ठाकुर। संवर्धन व वास कार्यक्रम के तहत दो दिवसीय उन्मुखीकरण कार्यशाला का आयोजन शुक्रवार को संपन्न हुआ। खेल भवन अररिया में यूनिसेफ व फिया फाउंडेशन के सहयोग से आयोजित इस उन्मुखीकरण कार्यशाला सह समीक्षात्मक बैठक की अध्यक्षता डीपीओ आईसीडीएस मंजुला कुमार व्यास ने की। इसमें जिले को कुपोषण मुक्त बनाने जल स्वच्छता व साफ-सफाई के साथ आंगनबाड़ी स्तर पर स्वच्छता कार्य योजना बनाने के लिये प्रथम चरण में चिह्नित 54 आंगनबाड़ी केंद्रों की सेविका, संबंधित महिला पर्यवेक्षिका, राष्ट्रीय पोषण अभियान के प्रखंड समन्वयक, संबंधित प्रखंड की सीडीपीओ को कार्यक्रम के संबंध में विस्तृत जानकारी देते हुए इसके सफल क्रियान्वयन को लेकर जरूरी प्रशिक्षण दिया गया। उन्मुखीकरण कार्यशाला के पहले दिन नरपतगंज, भरगामा,

कुर्साकांटा व सिकटी प्रखंड के प्रतिभागियों ने कार्यशाला में भाग लिया। वहीं इसके दूसरे दिन कार्यशाला में पलासी जोकीहाट, रानीगंज, फारबिसगंज व अररिया प्रखंड के प्रतिभागी इसमें शामिल हुए।

समुदाय स्तर पर पांच प्रतिशत बच्चे कुपोषित

समुदाय स्तर पर पांच प्रतिशत बच्चे कुपोषित उन्मुखीकरण कार्यशाला के संबंध में डीपीओ आईसीडीएस मंजुला कुमारी व्यास ने बताया कि प्रतिभागियों को संवर्द्धन कार्यक्रम के तहत जिले में व्यापक पैमाने पर कुपोषित बच्चों को चिह्नित समुदाय स्तर पर समुचित इलाज की प्रक्रिया सुनिश्चित कराने के लिये जरूरी प्रशिक्षण दिया गया। वहीं अति गंभीर कुपोषित बच्चों के समुचित इलाज के लिये उन्हें सदर अस्पताल परिसर में संचालित पोषण पुर्नवास केंद्र भेजने के लिये प्रेरित किया गया।

Advertisements
Ad 2

उन्होंने बताया कि एनएफएचएस-5 के आंकड़ों के मुताबिक जिले में समुदाय स्तर पर 05 प्रतिशत कुपोषित बच्चे हैं। उन सभी बच्चों का प्रति माह लंबाई, ऊंचाई, वजन माप कर पौषण ट्रैकर एप पर अद्यतन किया जाना है। वहीं संवर्द्धन कार्यक्रम के तहत 10 चरण में प्रबंधन व खतरा के सामान्य लक्षण की पहचान कर स्वास्थ्य कर्मियों के सहयोग से संवर्द्धन आधारित प्रोटोकॉल के तहत उनका इलाज कराया जायेगा।

वास कार्यक्रम का सफल क्रियान्वयन जरूरी

फिया फाउंडेशन के राज्य स्तरीय अधिकारी पंकज कुमार ने आंगनबाड़ी केंद्रों पर जल स्वच्छता व साफ-सफाई के वर्तमान स्थिति, पेयजल की उपलब्धता, सुरक्षित भंडारण, शौचालय के इंतजाम, कचरा प्रबंधन, केंद्रों पर पोषण वाटिका के निर्माण व सुदृढीकरण सहित वास कार्यक्रम के बेहतर क्रियान्वयन से संबंधित विस्तृत चर्चा की।

कार्यक्रम के सफल संचालन के लिये प्रखंड स्तर पर संबंधित सीडीपीओ की अध्यक्षता में इसके नियमित समीक्षा के लिये निर्देशित किया गया। यूनिसेफ के राज्य संवर्धन सलाहकार गगन कुमार, आईवाईसीएफ के राज्य सलाहकार राघवेंद्र कुमार व पुषा से राज्य सलाहकार डाइट पल्लवी कुमारी द्वारा प्रतिभागियों को जरूरी प्रशिक्षण दिया गया। कार्यक्रम में राष्ट्रीय पोषण अभियान के जिला पोषण सलाहकार कुनाल श्रीवास्तव, यूनिसेफ के जिला पोषण सलाहकार आशुतोष शामल, फिया फाउंडेशन के कायाकल्प समन्वयक रूपेश कुमार सिंह व क्षेत्रीय समन्वयक युगल किशोर सहित अन्य उपस्थित थे।

Related posts

शिवरात्रि एवं शब ए बारात को लेकर शांति समिति कि बैठक

अखिल भारतीय यादव महासंघ के चिकित्सा प्रकोष्ठ के कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष बनेगौरव यादव

तेजस्वी के ‘जन विश्वास यात्रा’ का दूसरा चरण कल से, 1400 किलोमीटर का रोड-शो

error: