मृतक एयरमैन के परिजनों को सौंपा गया शव, आत्महत्या की वजह का अब तक नहीं हो पाया खुलासा

बिहटा(आनंद मोहन): बिहटा वायु सेना केंद्र में अपने इंसास रायफल से गोली मारकर खुदखुशी करनेवाले मृतक एयरफोर्स कर्मी करमपाल सिंह के परिजन शनिवार सुबह बिहटा थाना पहुंचे. मृतक का छोटा भाई सुमित कुमार के साथ उसकी बहन के ससुर भूपेंदर सिंह ने बिहटा थाना में लिखित आवेदन दिया. जिसमें उसने अपने भाई की आत्महत्या का कोई भी पुख्ता कारण नहीं लिखा है. वहीं भाई सुमित ने बताया कि उनका भाई कर्मपाल सिंह घर में सबका प्रिय था. सुसाइड से लगभग दो घंटे पहले अपनी मां संजना देवी से मोबाइल के माध्यम से बात किया था.

भाई ने बताया, वो जब भी छुट्टियों में घर आता तो अपने घर वालों के लिए ढेर सारा सामान लाता था. करम पाल अपने घर में एक मात्र कमाने वाला था. इसके पहले इनके पिता की मृत्यु दस-बारह वर्ष पहले हो चुकी थी. इनका पूरा परिवार खेतीबाड़ी पर निर्भर था. कर्मपाल की नौकरी लगने से घर में खुशियां आ गयी थी. कर्मपाल ने अपनी बहन की शादी धूमधाम से हरियाणा के नारनौल में किया था. इनके बहनोई भी आर्मी में हैं और बहन के ससुर भी सेवानिवृत फौजी हैं.

सुमित के अनुसार उनके बड़े भाई ने अपने किसी जानने वाले से कर्ज के रूप में दो-तीन लाख रुपया लिए थे. वो इसकी चर्चा बार बार करता था, हालांकि कर्ज की अदायगी में मात्र पचास साठ हजार शेष रह गए थे. भाई ने कर्ज किससे लिया था, वो किसी को नहीं पता. बस इतना जानते थे कि उनके साथियों ने उन्हें कर्ज दिया था. किस काम के लिए कर्ज लिया था, परिजनों ने इससे भी अनभिज्ञता जताई. बहरहाल छोटा भाई सुमित भाई की मौत से दुखी था. उसके चेहरे पर मायूसी थी, वो उसे याद कर सिहर जा रहा था. उनके साथ आये भूपेंदर सिंह ने कहा कि पूरा परिवार खुशहाल था. घर में एयर फोर्स की सरकारी नौकरी लगने से परिवार में नया सवेरा आया था. लेकिन होनी प्रबल थी और नौकरी के चंद सालों को बीच में ही छोड़ कर कर्मपाल सिंह ने सबसे अलविदा ले लिया। बहरहाल उनके परिजनों को बिहटा एयर फोर्स और बिहटा थाना ने शव को उनके पैतृक गांव ले जाने की इजाजत दे दी है‌ आज शाम या कल सुबह की फ्लाइट से पार्थिव शरीर उनके घर के लिए रवाना हो जायेगा.

गौरतलब हो कि एक दिन पूर्व यानी शुक्रवार को बिहटा स्थित वायुसेना केंद्र परिसर में एयरफोर्स कर्मी ने खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी. जिसके बाद एयरफोर्स पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए दानापुर अस्पताल भेज दिया था. वहीं मृतक एयरफोर्स कर्मी एयरफोर्स परिसर में अकेला रहता था. परिजनों को घटना की सूचना देने के बाद परिजन अगले दिन बिहटा पहुंचे जिसके बाद आगे की कार्रवाई बिहटा पुलिस ने की।