बिहार

विश्वकर्मा समाज को राजनीतिक भागीदारी नहीं सत्ता चाहिए : मुकुल आनंद

बिहटा, न्यूज क्राइम 24। शनिवार को बिहटा नगर परिषद स्थित राजमहल बैंकेट हाल सभागार में भारतीय विश्वकर्मा महासंघ की एक दिवसीय प्रखंडस्तरीय सम्मेलन संपन्न हुई। कार्यक्रम की अध्यक्षता महासंघ के रवि शर्मा तथा संचालन विद्या भूषण शर्मा ने किया। कार्यक्रम का शुभारंभ विश्वकर्मा समाज के इष्टदेव भगवान विश्वकर्मा के तैल्य चित्र पर पुष्प अर्पित कर दीप प्रज्वलन कर किया गया। आगत सभी अतिथियों का माला एवं अंगवस्त्रम से सम्मानित किया गया एवम आइडियल पब्लिक स्कूल के छात्राओं के द्वारा झाँकीयो के माध्यम स्वागत गान से अतिथियों का स्वागत किया।

भारतीय विश्वकर्मा महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुकुल आनंद ने कहा कि आज विश्वकर्मा समाज के बुनियादी मुद्दों का समाधान करने की आवश्यकता है। विश्वकर्मा समाज के नौजवानों को अब नौकरी और रोजगार चाहिए। विश्वकर्मा समाज के युवा डॉक्टर, इंजीनियर और आईएएस बनना चाहते है। समाज के लोग जब तक एमपी,एमएलए नहीं बनेंगे तब तक विश्वकर्मा समाज की अधिकार का हनन होते रहेगा।सरकार में भागीदारी से ही समाज का विकास का रास्ता खुलता है।

आनंद ने कहा जिसकी 2% आबादी है उन्हे सत्ता में आजादी से लेकर अब तक सम्मान मिल रहा है। जबकि हम विश्वकर्मा समाज किसी का भेदभाव नहीं करते है सबका सम्मान करते है और विश्वकर्मा समाज की आबादी 10 से 12% है फिर भी सत्ता में हमे जगह नहीं मिल रहा है।अब विश्वकर्मा समाज इस अपमान को बर्दास्त नही करेगी।राजनीतिक भागीदारी नहीं अब सत्ता का संघर्ष जारी है। फरवरी माह में पटना के गांधी मैदान में होने जा रही विश्वकर्मा अधिकार महारैली में लाखो की संख्या में जम जुटकर आकर अपनी एकता की परिचय दे।

महासंघ के संरक्षक एवम साहित्यकार राजेंद्र पुष्कर ने विश्वकर्मा समाज पर प्रकाश डालते हुए कहा की विश्वकर्मा समाज का सामाजिक ढांचे का निर्माण में अहम भूमिका शुरू से रहा है। हमारा समाज तकनीक में अव्वल रहा है। हम सब के लिए प्रयोग होते है फिर भी आजादी से अब तक हम उपेक्षित है। अब हम उपेक्षित नही रह सकते है। अब आर पार की लड़ाई होगी। हमे केवल जागृत होने की जरूरत है। जरूरत है केवल आत्मविश्वास की जो व्यक्ति की कामयाबी का सबसे बड़ा सहयोगी होता है।

विश्वकर्मा वंशजों की है साजिश के तहत शोषण किया जा रहा है क्योंकि शासन में बैठे लोग हमारे समाज को कमजोर समझते है इस मानसिकता को दूर करने के लिए भारतीय विश्वकर्मा महासंघ के बेनर तले संगठित ढांचा तैयार कर बृहत आंदोलन करेंगे।

Advertisements
Ad 2

महासंघ के संरक्षिका मीना शर्मा ने कहा विश्वकर्मा समाज की सामाजिक और राजनीतिक ताकत बनाने का जो प्रयास कर रहे है उसी का नतीजा है कि लोग विश्वकर्मा की चर्चा दिल्ली मे कर रहे हैं और अपने पार्टियों में तवज्जो एवं सम्मान देने लगे। इससे पहले विश्वकर्मा समाज को सम्मान क्यों नहीं मिलता था।कई सामाजिक संगठन विश्वकर्मा समाज की हक अधिकार दिलाने के नाम पर समाज से मोटी चंदा,कामगार कार्ड आदि के जरिए समाज का शोषण किया और समाज को दूसरे का दरी बिछाने के लिए मजबूर करते रहा। अब ये नही चलेगा।

वही मौके पर सुजाता शर्मा ने समाज की एकता पर बल देते हुए कहा किसी भी समाज की शक्ति उस समाज की संगठन पर निर्भर करती है।युवाओ एवम महिलाओं को ज्यादा से ज्यादा संगठन से जोड़े एवम विस्तार करे। महासंघ के उत्तर प्रदेश प्रभारी अंशु प्रियम शर्मा ने कहा की विश्वकर्मा समाज भौतिक संसाधन जुटाना ही अधिक जरूरी समझता है।जबकि समाज की हित उसके चेतना में है।

वही मौके पर देवी दयाल पंडित ने कहा की शिक्षित समाज ही अपने समाज को मजबूत बनाता है।इसलिए समाज को शिक्षा के प्रति प्रेरित करे। वही मौके पर अमित सोनी ने कहा अब हम विश्वकर्मा समाज उपेक्षा का शिकार नही होंगे।हम अपने नेता मुकुल आनंद के नेतृत्व में आर पार की लड़ाई की साक्षी बनूंगा।अध्यक्ष जी का जब भी आह्वान होगा चाहे कृष्ण मेमोरियल हॉल भरने का हो,चाहे गांधी मैदान भरने का हो पूरी ताकत लगा देंगे।

जय गोविंद शर्मा ने कहा भगवान विश्वकर्मा के सृष्टि के सृजन में योगदान और उनके इतिहास को घर घर बताने की आवश्यकता है। महासंघ के राष्ट्रीय प्रवक्ता दिवाकर शर्मा ने कहा विश्वकर्मा समाज आजादी से अब तक सामाजिक, आर्थिक, शैक्षणिक,सांस्कृतिक एवं राजनीतिक हर क्षेत्र में उपेक्षित है।एक संगठित समाज ही परिवर्तन और विकास का मार्ग प्रशस्त कर सकता है।

जिला अध्यक्ष जयंत शर्मा ने कहा अब हम विश्वकर्मा समाज उपेक्षा का शिकार नही होंगे।हम अपने नेता मुकुल आनंद के नेतृत्व में आर पार की लड़ाई की संघर्ष तेज कर दिया है।पटना के गांधी मैदान में होने जा रही विश्वकर्मा अधिकार रैली में पूरी ताकत लगा देंगे। कुणाल प्रजापति, युवा नेता चंदन शर्मा, युवा नेता मुकेश शर्मा, पिंकू पंडित, संतोष सोनी, शंकर शर्मा,पप्पू विश्वकर्मा, बीतेश्वेर विश्वकर्मा,अनिल शर्मा, कृष्ण नंदन शर्मा, आर सी भूषण शर्मा,भोजपुर जिला अध्यक्ष अमीरचंद शर्मा,वैशाली जिला अध्यक्ष जितेंद्र शर्मा,भोजपुर उपाध्यक्ष अजय शर्मा,सचिव कवि राज कवि आदि लोगो ने अपने अपने विचार व्यक्त किए।कार्यक्रम मे हजारों लोग मौजूद थे।

Related posts

इंडियन बैंक के द्वारा कस्टमर मीट के तहत अंचल जोनल मैनेजर ने बैंक समस्याओं को किया निष्पादन

महादलित टोले में कोई सुविधा नहीं, जताया आक्रोश

जोगबनी पुलिस और एसएसबी जवानों ने संयुक्त छापेमारी कर 68 किलो गांजा किया बरामद