उत्तरप्रदेश

राजनीति चमकाने के लिए नेताओं की ओछी मानसिकता, महिलाओं को बताया परमाणु बम

बलिया, संजय कुमार तिवारी। यूपी 2024 में लोक सभा चुनाव आने वाला है और राजनीतिक पार्टियां अपनी अपनी राजनीति चमकाने के लिए जनता को मोहरा बना रही है। बड़ी पार्टियां हो या छोटी पार्टियां हो सभी राजनीति को चमकाने के लिए ओछी मानसिकता रखती है।और जनता को गुमराह कर गंदा पाठ पढ़ा रही है वोट के के लिए नेता किसी भी हद तक जा सकते है। जिसका नजारा बलिया जिलाधिकारी कार्यालय पर देखने को मिला।जहां जिलाधिकारी कार्यालय पर शो स पा राष्ट्रवादी ने एस टी आरक्षण महा आंदोलन को लेकर धरना पर बैठे है।

वही शो स पा राष्ट्रवादी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बाबू लाल राजभर ने धरना के दौरान महिलाओं को उकसाते हुए कहा कि आप देवी है अगर कोई बईमान और सैतान को उसके मुंह में मारिए । हल्ला होगा पुलिस आयेगी और पुलिस के सामने यह नहीं कहिएगा की पैसा मांग रहा था यह कहिएगा की मेरा हाथ पकड़ रहा था कई दिनों से हमे परेशान कर रहा था हद हो गई है तब इसको मारे है कोटेदार चार किलो अनाज दे रहा है तो उसको भी मारिएगा वो तो जान रहा है की हम क्यों पीटे गए है आप कहिए की हमारा हाथ पकड़ रहा था, आंख मार रहा था उसको तो जेल होगा हो जेल में सड़ जायेगा उसका कोटा खत्म हो जाएगा।जो जो सुनेगा वो लोग आप लोगो को देवी जैसे दिया और बाती बारने लगेगा।

Advertisements
Ad 2

वही एक महिला ने कहा की प्लास्टिक का चावल मिल रहा है तो नेता ने कहा की प्लास्टिक का चावल लाइयेगा हम डीएम साहब के मुंह पर फेकूंगा और वो मुख्यमंत्री के मुंह पर फेकेंगे।हम लोगो का मूल मंत्र क्या है।हम अप लोगो को बताएं है आजतक आप कमजोर थी अब आप कमजोर नही है तोहरा पासे बम बा परमाणु बम बा तोहारा पता नही है की हम क्या है हई नेता लोग क्या है तुम लोग तो दो मिनट में आदमी बना देंगी।आप जान जाइए की यह बईमान है तो मैं जो बताया हूं वो काम आप लोग करेंगी न आज से करिएगा।यही मूल मंत्र है तब बुझ जाइए की तब आप हमारे गोल में रहेंगी।राजभर पर आज जितना संकट है और ठंड का मौसम आ रहा है जितना ठंड से मौत होगी उसमें 75% राजभर समाज के लोग मरेंगे।जो सरकार ठंड में कंबल वितरण करना चाहिए वह कंबल फरवरी माह में मिलेगा जब गर्मी होगी तब।

Related posts

अखिलेश यादव पिछड़ों और मुसमानो का हक लुटते है : ओमप्रकाश राजभर

दुकानदार के साथ एसडीएम ने की हाथापाई, सीसीटीवी में कैद हुई वीडियो

BREAKING : ज्ञानवापी केस में बड़ा फैसला, हिंदूओं को मिला पूजा का अधिकार

error: