क्राइमबिहार

मंटू शर्मा एवं उसके पिता के घर में घुसकर हुई हत्या कांड का मुख्य अभियुक्त सन्नी यादव गिरफ्तार!

Advertisements
Ad 4

फुलवारीशरीफ(अजीत यादव): पटना के फुलवारी शरीफ बीएमपी 16 के नजदीक 13 दिसंबर को न्यू सबजपूरा में प्रॉपर्टी डीलर मंटू शर्मा और उसके पिता सुधीर शर्मा की गोलियों से भून कर हत्या कर दी गई थी. इस मामले का मुख्य नामजद अभियुक्त सनी यादव उर्फ अवधेश यादव को पुलिस ने गिरफ्तार किया है . गौरतलब हो कि 3 महीना बाद भी फुलवारी शरीफ का चर्चित मंटू शर्मा हत्याकांड में पुलिस टीम इस बात का खुलासा नहीं कर पाई है कि आखिर मंटू शर्मा और उसके पिता सुधीर शर्मा की हत्या क्यों की गई . इतना ही नही इन्दोनो की हत्या की सुपारी किसने और क्यों दिया . हालांकि पुलिस इस मामले में अब तक 8 अपराधियों को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है.

फुलवारी पुलिस अनुमंडल पदाधिकारी के कार्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस में एडिशनल एसपी मनीष कुमार सिन्हा फुलवारी शरीफ और नौबतपुर थाना अध्यक्ष की मौजूदगी में बताया गया कि मंटू शर्मा हत्याकांड में अब तक 7 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है . वही इस हत्याकांड का मुख्य अभियुक्त सनी यादव उर्फ अवधेश यादव को गिरफ्तार किया गया . सनी यादव के खिलाफ पुलिस के पास अपराधिक वारदातों की लंबी लिस्ट है.फिलहाल इसके खिलाफ दर्ज 6 अपराधिक वारदातों के बारे में अभी तक पता चला है . पटना बिहार के अलावा झारखंड में भी इसके खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं.

इसका पिता कुख्यात नाकट गोप बड़ा अपराधी रहा है .पुलिस इसके अन्य अपराधिक वारदातों के बारे में पता लगा रही है. एडिशनल एसपी ने बताया कि मंटू शर्मा के घर में घुसकर एक दर्जन के करीब अपराधियों ने ताबड़तोड़ गोलियों की बौछार कर दिया था. वहां सीसीटीवी फुटेज में जो तस्वीर सामने आया था उसने सबसे पहले सनी यादव ही घर में घुसकर इस घटना को अंजाम देने में लीड भूमिका अदा कर रहा था.

Advertisements
Ad 2

प्रेस कॉन्फ्रेंस में सीसीटीवी फुटेज को दिखाते हुए पुलिस ने कहा कि अब सन्नी को रिमांड पर लिया जाएगा. इसके बाद मंटू शर्मा और उनके पिता की हत्या का कारण स्पष्ट रूप से सामने आ पाएगा . पुलिस का कहना है की अबतक इस हत्याकांड का सही सही कारण सामने नहीं आया है. पुलिस को लगता है कि इनकी हत्या लूटपाट या किसी के सुपारी दिए जाने चलते की गई है.अब रिमांड पर लिए जाने के बाद खुलासा हो पाएगा कि किसने और किस कारणों से सुपारी दी थी. घटनास्थल पर अपराधियों की एक बाइक छूट गए थे जिसकी कागजातों की जांच के बाद पता चला कि वह बाइक सनी यादव की मां के नाम से रजिस्टर्ड था .

गौरतलब हो की 13 दिसंबर को बीएमपी 16 के सामने पेट्रोल पंप के बगल वाली गली में अपराधियों ने मंटू शर्मा उनके पिता सुधीर कुमार और उनके छोटे भाई को घर में घुसकर गोलियों से भून डाला था। इलाज के क्रम में मंटू शर्मा एवं उनके पिता की मौत हो गई थी। इस वारदात में जख्मी मंटू शर्मा के भाई संजीव इलाज के बाद बच गया था।

Related posts

गंगा किनारे शहरवासीयों ने लिया 1 जून को मतदान करने की शपथ

संफिक्स के नशे की गिरफ्त में मासूम का बचपन

ट्रांसफार्मर से तेल चोरी करते पकड़े गए तीन चोर, गिरोह का हुआ पर्दाफाश