बिहारलाइफ स्टाइल

‘कोल्ड आइलैंड बना बिहार’ तीन दिनों में न्यूनतम तापमान बढ़ने की संभावना

पटना, अजीत। पटना में लगातार चौथे दिन सोमवार को भी कोल्ड-डे की स्थिति रही. सुबह घने कोहरे के बाद दिन में थोड़ी देर के लिए हल्की धूप निकली. लेकिन दिन भर पछुआ हवा व कम तापमान के कारण लोगों को कनकनी महसूस हुई. साइबेरिया से आ रही ठंडी बर्फीली हवाओं ने बिहार को कोल्ड आइलैंड में तब्दील कर दिया है.कश्मीर घाटी व हिमाचल में भारी भारी बर्फबारी हो रही है। 5 से 7 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से बर्फीली पछुआ हवा चल रही है। इससे शीतलहर की यह स्थिति हुई है।

मौसम सेवा केंद्र की रिपोर्ट के अनुसार सोमवार को जिले के धनरूआ, फतुहा और संपतचक में न्यूनतम तापमान 6.1 डिग्री सेल्सियस रहा, जो जिले में इस सीजन का सबसे कम तापमान है. वहीं, पटना एयरपोर्ट पर शहर का न्यूनतम तापमान 7.5 और अधिकतम तापमान 16.4 डिग्री सेल्सियस मापा गया.बिहार में शीतलहर का कहर चल रहा है ऐसे मौसम को देखते हुए कई जिलों को अलर्ट पर रखा गया है.कोल्ड वेव चलने से हार्ट अटैक और ब्रेन हेमरेज के केस लगातार बढ़ते जा रहे हैं जिससे अस्पतालों में मरीजों की भीड़ बढ़ रही है. मौसम विभाग लोगों को ठंड से बचने और लगातार सतर्क रहने के लिए सचेत कर रहा है.

बिहार का गया भागलपुर सबौर बांका औरंगाबाद आदि इलाका में। तापमान काफी नीचे चला गया है. वहीं बिहार के 17 जिलों में न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस से भी नीचे है. ठंड का आलम यह है कि पिछले तीन चार दिनों से अधिकतर जिलों में धूप तक नहीं निकली है. यही वजह है की मौसम विभाग ने कई जिलों में कोल्ड डे और अन्य जिलों में कोल्ड वेव का अलर्ट जारी किया है.उत्तर प्रदेश से सटे राज्य के दक्षिण-पश्चिम हिस्से में शीतलहर की स्थिति बनी हुई है।भागलपुर और बांका समेत आसपास के जिलों में गलन वाली ठंड का अहसास लोगों को हो रहा है। भागलपुर के सबौर का पारा गिरकर 5 डिग्री तक पहुंच गया है।सीमांचल भी कनकनी वाली ठंड को झेल रहा है।

पिछले एक सप्ताह से पूरा जिला शीतलहर की चपेट में है। कुहासे ने परेशानी और बढ़ा रखी है। सुबह पारा 8 डिग्री पर पहुंच गया। तापमान गिरने से शीतलहर का कहर बढ़ गया है। कनकनी वाली ठंड लोगों को परेशान कर रही है। पछिया हवा ने लोगों को थरथराने पर विवश कर दिया है।उत्तर बिहार में भी ठंड की मार से लोग बेहाल हैं। मौसम का मिजाज पल-पल बदल रहा है। समस्तीपुर जिला घने कोहरे के आगोश में है। सुबह में कोहरे के कारण सड़कों पर वाहनों को आवाजाही में परेशानी हो रही है। विजिबिलिटी 50 मीटर से भी कम है।वही मौसम विभाग में 17 से कई जिलों में बारिश की संभावना भी जताई है।

पटना मौसम विभाग के मौसम बुलेटिन में बताया गया है कि राज्य का मौसम आमतौर से शुष्क रहा। भीषण शीतदिवस सीवियर कोल्ड डे पूर्णिया एवं बक्सर में दर्ज किया गया जबकि शीत दिवस पटना गया मुजफ्फरपुर फारबिसगंज सबौर गोपालगंज जमुई वैशाली औरंगाबाद बांका सिवान एवं कैमूर में दर्ज किया गया। बहुत घना कुहासा पूर्णिया में जबकि हल्के से मध्यम स्तर का कुहासा राज्य के अधिकांश भागों में सुबह के समय छाया रहा। बिहार राज्य का सर्वाधिक अधिकतम तापमान 20.0 डिग्री सेल्सियस मोतिहारी में एवं सबसे कम न्यूनतम तापमान 6.0 डिग्री सेल्सियस बांका सबौर एवं मोतिहारी एवं में दर्ज किया गया । बिहार राज्य का औसत अधिकतम तापमान 17.3 डिग्री सेल्सियस एवं औसत न्यूनतम तापमान 8.3 डिग्री सेल्सियस रहा ।

सोमवार के मौसम विश्लेषण के अनुसार राज्य में सर्द पछुआ हवा का प्रवाह जारी है । साथ ही एक चक्रवार्तीय परिसंचरण दक्षिण बांग्लादेश एवं आसपास के क्षेत्र में समुद्र तल से औसत 1.5 किलोमीटर ऊपर मौजूद है। अगले 24 घंटे के दौरान राज्य का मौसम शुष्क बना रहेगा। भीषण शीत दिवस सीवियर कोल्ड डे राज्य के अधिकांश भागों के कुछ स्थानों में होने का पूर्वानुमान है। बहुत घना कुहासा राज्य के उत्तर पूर्व भाग के एक या दो स्थानों में जबकि शेष भागों के कुछ स्थानों में घना कोहासा सुबह के समय छाए रहने का पूर्वानुमान है ।अगले तीन दिनों के दौरान राज्य के अधिकांश भागों के न्यूनतम तापमान में 2 से 3 डिग्री सेल्सियस की वृद्धि होने की संभावना है।

Advertisements
Ad 2

मौसम विज्ञान केंद्र की रिपोर्ट के अनुसार अगले तीन दिनों में न्यूनतम तापमान में दो से तीन डिग्री सेल्सियस की वृद्धि हो सकती है. फिलहाल पटना सहित पूरे राज्य में पछुआ हवाएं चल रही हैं. एक चक्रवाती परिसंचरण दक्षिणी बंग्लादेश के ऊपर बना हुआ है. इससे मौसम में परिवर्तन हो रहे हैं. मंगलवार को भी कोल्ड-डे की स्थिति बन सकती है. पछुआ से कनकनी का सामना करना पड़ सकता है.

मौसम विभाग के पूर्वानुमान में बताया गया है कि अगले दो से तीन दिनों में मौसम में सुधार हो सकता है, फिलहाल पूरे बिहार के सभी जिलों में भीषण शीत लहरी का दौर जारी है। वही पूरा बिहार सीवियर कोल्ड डे की चपेट में थरथरा रहा है।भीषण शीत लहरी के बीच पटना समेत कुछ जिलों में धूप निकली भी तो इसमें तीव्रता नहीं देखी गई है। अगले दो से तीन दिनों तक कोल्ड डे की स्थिति रहने की संभावना है। पछुआ हवा अभी और सतायेगी। सोमवार को भी पटना समेत बिहार के अधिकांश जिले में कड़ाके की ठंड और भीषण शीत लहरी से लोग ठेठुरते रहे. पश्चिमी विक्षोभ के चलते चल रहे ठंडी हवाओं से शरीर को भेदने वाली सर्दी में लोगों को गर्म कपड़ों में दुबकने को मजबूर होना पड़ा. वही लगातार बढ़ते ठंड को लेकर बाजारों में गर्म कपड़ों का बाजार में गर्म हो गया. इसके अलावा हीटर आदि की दुकानों पर भी भीड़ नजर आया. लोग ठंड से बचने के लिए इलेक्ट्रॉनिक सामानों की खरीदारी कर रहे हैं जिससे बिजली की खपत बढ़ गई है.

बिहार में अभी मौसम का सबसे ठंडा समय चल रहा है. इस भीषण शीतलहरी सीवियर कोल्ड डे और कड़ाके की ठंड के बीच लोगों को अपने स्वास्थ्य का विशेष ख्याल रखना चाहिए, ऐसा मौसम विभाग लगातार लोगों को सचेत भी कर रहा है. ऐसे में डॉक्टरों का कहना है कि थोड़ा सा ध्यान रखेंगे तो आप इस मौसम में बिल्कुल बचकर रह पाएंगे और किसी बीमारी की चपेट में नहीं आएंगे.

घर के बड़े बुजुर्ग अक्सर कहते हैं- ठीक से पहन-ओढ़ कर बाहर निकलो यह गलत नहीं. इस मौसम में तो खासकर शरीर को पूरी तरह ढकने वाले कपड़े और गर्म रखने वाले कपड़ों का इस्तेमाल करके ही बाहर निकलना चाहिए. इतना ही नहीं अगर जरूर नहीं हो तो घर से बाहर ना ही निकले तो बेहतर है.

कोल्ड डे को देखते हुए एम्स पटना के हृदय रोग विभागाध्यक्ष और एक्सपर्ट डॉ. संजीव कहते हैं- “कोल्ड स्ट्रोक का मौसम है, इसलिए शरीर को बाहरी तापमान में अचानक परिवर्तन झेलने के लिए विवश नहीं करना चाहिए. जैसे बिल्कुल बंद में हैं तो थोड़ा सामान्य होते हुए बाहर जाएं.मतलब, अचानक बाहर मत जाएं. बाहर निकलना है तो गर्म कपड़ा ठीक से पहनें. कान सर और गला ढंक कर रखें , पूरा गर्म कपड़ा कभी भी एक बार में नहीं उतारें.सुबह उठते ही या गर्म कपड़ा तुरंत उतारकर नहाने न जाएं. पहले से बीपी है तो दवा लेते रहें नहीं है तो भी आसामान्य लगने पर जांच कराते रहें. कई बार जाड़ा में बीपी की दवा की मात्रा बढ़ जाती है, इसलिए इसे नजरअंदाज नहीं करें. डायबिटीज रोगी या 60+ वाले लोग एक्सपोजर से विशेष तौर पर बचें।

Related posts

गलत के खिलाफ उठाए आवाज और जागरूक होकर बच्चों को सही राह दिखाएं मुस्लिम महिलाएं : बुशरा रहमान

सौ बेड का हो गया कर्मचारी राज्य आदर्श बीमा अस्पताल

भूमि विवाद में जम कर चली गोली, गिरा दिया चहारदीवारी

error: