उत्तरप्रदेश

जिले में 1082 स्वास्थ्यकर्मियों एवं फ्रंट लाइन वर्कर को लगा कोविड-19 का टीका

Advertisements
Ad 4

बलिया(संजय कुमार तिवारी): प्रथम चरण के छठवे दौर का टीकाकरण शुक्रवार को जिले के 9 सरकारी अस्पतालों में संचालित किया गया। शाम पांच बजे तक जिले के 1082 लाभार्थियों (719 स्वास्थ्य कर्मियों एवं 363 फ्रंटलाइन वर्कर )को कोविड-19 टीका से प्रतिरक्षित किया गया। प्रतिरक्षित लाभार्थियों ( स्वास्थ्य कर्मियों एवं फ्रंट लाइन वर्कर )को कोविड-19 टीका की अगली डोज के लिए 5 मार्च की तारीख दी गई है। इसके लिए उनके मोबाइल पर मैसेज भी आएगा। अब तक लक्षित 10836 लाभार्थियों के सापेक्ष 6799 को टीका लगा है.

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ० राजेंद्र प्रसाद ने बताया कि जनपद में कोरोना को मात देने के लिए वैक्सीन की 11930 डोज जिले को प्राप्त हो गयी है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने कहा कि भारत में विकसित कोरोना वैक्सीन पूरी तरह प्रभावी है। कोल्ड चेन के मानकों को पूर्ण करते हुये यह वैक्सीन जिले में आई है। अत्याधुनिक तकनीक से हम कोल्ड चेन बनाए हुये हैं.

सीएमओ ने बताया कि पहले डोज के बाद दूसरा डोज 28वें दिन लगेगा। टीका लगने के बाद आधे घंटे तक टीकाकरण केंद्र पर रुकना होगा। प्रतिरक्षित व्यक्ति को यदि बेचैनी या किसी भी तरह की समस्या होती है तो निकटतम स्वास्थ्य अधिकारियों, एएनएम और आशा को इसकी सूचना दें। इसके लिए एंबुलेंस सेवा 108 भी उपलब्ध रहेगी। प्रतिरक्षित व्यक्ति भी कोरोना अनुरूप व्यवहारों जैसे मास्क पहनना, हाथ की सफाई और 6 फीट की शारीरिक दूरी बनाये रखने का पालन करें.

उन्होंने बताया कि उच्च जोखिम वाले समूहों को प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण के लिए चिन्हित किया गया है। इन्हें तीन समूहों में बांटा गया है- पहले समूह में हेल्थकेयर वर्कर, दूसरे समूह में फ्रंटलाइन वर्कर, तीसरे समूह में 50 वर्ष से अधिक उम्र के व्यक्ति तथा जो पहले से ही किसी रोग से ग्रसित हैं.

Advertisements
Ad 2

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉo ए. के. मिश्रा ने बताया कि कोई व्यक्ति बिना पंजीकरण के कोरोना वैक्सीन नहीं प्राप्त कर सकता है। कोरोना वैक्सीनेशन के लिए पंजीकरण के बाद ही सत्र स्थल और समय की जानकारी दी जायेगी । फोटो, आईडी पंजीकरण और सत्यापन दोनों के लिए जरूरी है। ऑनलाइन पंजीकरण के बाद लाभार्थी को वैक्सीनेशन की नियत तिथि, स्थान और समय के बारे में मोबाइल पर एसएमएएस प्राप्त होगा। कोरोना वैक्सीन की उचित खुराक मिलने पर लाभार्थी को उनके मोबाइल नंबर पर एक क्यूआर कोड आधारित प्रमाण पत्र भी भेजा जायेगा.

क्या कहा लाभार्थियों ने:- मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ०बी पी सिंह ने कोरोना के टीका लगवाने के बाद कहा की सबको टीका लगवाना चाहिए। यह टीका सुरक्षित है। इस टीके का कोई साइड इफेक्ट नहीं है। प्रत्येक स्वास्थ्य कर्मी को यह टीका जल्द से जल्द लगा लेना चाहिए. जिला पुरुष अस्पताल में कार्यरत डॉ० मिथिलेश सिंह ने टीका लगवाने के बाद कहा कि यह टीका सबको लगा लेना चाहिए यह टीका असरदार और सुरक्षित है.

अनुपस्थित की बनेगी सूची-

शुक्रवार को हुये कोविड – 19 टीकाकरण अभियान के दिन कई ऐसे लोग भी रहे जिनका नाम कोविन पोर्टल पर पंजीकृत था लेकिन वह टीकाकरण के समय नहीं आए। अनुपस्थित लोगों की अब एक अलग सूची तैयार होगी। इन लोगों को टीकाकरण के लिय अलग से समय दिया जाएगा.

सत्यापन के लिए आवश्यक:-

अगर आप कोविड – 19 टीकाकरण के लिए जा रहे हैं तो अपना एक पहचान पत्र ले आना न भूलें। इसमें आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आइडी एवं पैन कार्ड, पासपोर्ट, जॉब कार्ड, पेंशन दस्तावेज, मनरेगा कार्ड , स्वास्थ्य बीमा स्मार्ट कार्ड, सांसदों, विधायकों, एमएलसी को जारी आधिकारिक प्रमाण पत्र, बैंक, पोस्ट ऑफिस की पासबुक, केंद्र, राज्य सरकार या पब्लिक लिमिटेड कंपनियों द्वारा जारी सेवा आईडी कार्ड आदि में कोई एक हो सकता है।

Related posts

जबतक एक भी सांसद भारतीय जनता पार्टी का संसद में है तब-तक मुसलमानों को धर्म के नाम पर आरक्षण कोई नहीं दिला सकता है : अमित शाह

चुनाव के दौरान 17 वर्षो बाद याद आए भृगु मुनि : बीजेपी प्रत्याशी नीरज शेखर

बीएसपी के प्रत्याशी का जोरदार स्वागत, बीएसपी प्रत्याशी बीजेपी प्रत्याशी पर बोला हमला