कर्णपूरा मुखिया के दफ्तर में युवक की हत्या, पांच घंटे सडक जाम व प्रदर्शन

फुलवारीशरीफ(अजित यादव): गोपालपुर थाने के संपत चक में बैरिया कर्णपूरा मुखिया राम नाथ यादव के दफ्तर में एक युवक की गला रेत कर हत्या कर दी गई | हत्या का आरोप मुखिया रामनाथ यादव और उनके एक स्टाफ सन्नी के उपर लगा है । युवक रविकांत कुमार की हत्या मुखिया के दफ्तरमें की गई है | जहाँ से उसकी खून सनी लाश भी बरामद किया गया । घटना के बाद मुखिया स्टाफ सन्नी और उसका परिवार घर छोड़ फरार है । शव को कब्जे में कर पुलिस मामले की छानबीन कर रही है । मृतक रविकांत कुमार मुखिया के दफ्तर में एक साल से काम कर रहा था लेकिन एक माह पहले ही उसे मुखिया ने काम से निकाल दिया था | रविकान्त कुमार बैरिया निवासी अनिल पंडित का बड़ा बेटा था | मृतक के परिजनों ने मुखिया रामनाथ यादव और उनके स्टाफ सन्नी के खिलाफ हत्या करने का नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई है |इससे पहले हत्या की वारदात के बाद मौके पर सैंकड़ो लोगो को भीड़ जमा होकर सडक जाम कर हो हंगामा करने लगी | मृतक के परिजन भी सडक पर विलाप करने लगे और हत्या में शामिल मुखिया और उसके स्टाफ सन्नी को गिरफ्तार करने की मांग करते हुए पांच घंटे तक पटना गया हाईवे जाम कर प्रदर्शन किया | मौके पर हालत को सँभालने एएसपी सदर संजीत सिंह , गोपालपुर थानेदार अलोक कुमार , गौरीचक थानेदार लालमनी दुबे , परसा बाजार रामकृष्ण नगर समेत आस पास के कई थानों की पुलिस एवं रैपिड एक्शन फ़ोर्स को भी बुला लिया गया | अधिकारियो ने मृतक के परिवार को किसी तरह समझा बुझाकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज सडक जाम हटवाया और हत्या में शमिल लोगो की जल्द गिरफ्तारी का आश्वासन दिया गया है | वारदात में कई योजनाओ की राशी में धांधली और प्रेम प्रसंग समेत अन्य कई पहलुओं पर तफ्शीश की जा रही है |
बता दें की बैरिया कर्णपूरा मुखिया रामनाथ यादव के यहाँ काम करने वाले 18 साल के स्टाफ रविकांत कुमार को मुखिया ने एक माह पहले निकाल दिया था | जिसे रविवार की शाम दफ्तर पर मोबाईल देने के बहाने बुलाया गया और फिर उसकी लाश सुबह में उसी दफ्तर से मिली | रात भर परिजन रविकांत की तलाश करते रहे लेकिन कोई अता पता नही चल पा रहा था | सुबह में करीब आठ बजे मुखिया के दफ्तर में दाई का काम करने वाली पूजा नाम की युवती ने शटर उठाया तो अंदर रविकांत की खून सना हुआ लाश देख हो हल्ला मच गया | मृतक के परिजन रविकांत की हत्या की जानकारी मिलने पर रोते बिलखते वहां पहुंचे और सडक पर बैठकर विलाप करने लगे |वही स्थानीय लोगो की भीड़ ने सडक जाम कर हो हंगामा करना शुरू कर दिया | हत्या की वारदात की सुचना पाकर कई थानों की पुलिस और रैफ जवानो को बुलाया गया फिर एएसपी सदर के मौजूदगी में पुलिस ने टीम ने तहकीकात शुरू की | मौके पर एफएसएल की टीम पहुंची और नमूने एकत्र किये | इसके आलावा सीसीटीवी फुटेज देखा जा रहा है लेकिन उसका पासवर्ड खोलने एक लिए टेक्निकल सेल का सहारा लिया जा रहा है.
मृतक की मां ने बताया कि रविकांत मुखिया के घर सालभर से काम करता था | महीने भर पहले मुखिया ने रविकांत को नौकरी से निकाल दिया था | रविवार की शाम मुखिया और उसका मैनेजर सन्नी ने उसे दफ्तर में मोबाईल देने के लिए बुलाया । रविवार की रात करीब साढ़े आठ बजे रविकांत अपने चचेरे भाई सन्नी के साथ मुखिया से मिलने गया | मृतक के चचेरा भाई सन्नी ने बताया की दफ्तर से थोडा पहले बैरिय पुल के पास रविकांत ने उसे घर जाने को बोल दफ्तर में चला गया | दोनों बाईक से वहां गये थे | मृतक के चचेरे भाई सन्नी ने बतया की वह रविकांत के बोलने के घर नही गया और आस पास में ही उसका इन्तेजार कर रहा था तभी नौ बजे के बाद वह दफ्तर के बाहर जाकर देखा तो मुखिया रामनाथ यादव और सन्नी पल्सर बाईक पर सवार होकर भागते हुए देखा | इसके बाद परिजनों ने रविकान्त , मुखिया और उनके स्टाफ सन्नी के मोबाईल पर बात करने का काफी प्रयास किये लेकिन मोबाईल मिला | इधर रात भर बेचैन परिजनों जब सुबह मुखिया के दफ्तर के पास पहुंचे और वहां काम करने वाली दाई पूजा आई फिर शटर खोला गया | मृतक के परिजन जब अंदर गये तो वहां मुखिया के चार पहिया वाहन लगा हुआ था और उसके बाद अंदर केबिन में रविकांत का गला रेता शव पड़ा देखकर कोहराम मच गया | मुखिया के दफ्तर में खून ही खून पसरा हुआ था |उसके बाद सैकड़ों लोग मौके पर जुट गए और हंगामा करने लगे | सड़क जाम कर मुखिया को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने की मांग करने लगे |कुछ लोगों का कहना था कि रविकांत की हत्या प्रेम प्रसंग को लेकर की गई है । बहरहाल पुलिस मामले की छानबीन कर रही है ।मृतक रविकांत की माँ सुधा देवी ने भी रोते हुए बेटे का प्रेम प्रसंग की बात बतायी है | हालाँकि पुलिस का कहना है की प्रेम प्रसंग की बात परिजनों ने नही बताया है | कुछ लोगों का कहना है की रविकान्त मुखिया के दफ्तर में काम करते हुए कई योजनाओ की राशी में हेर फेर किया था | जिसके बाद उसे काम से निकाल दिया गया था | रविकांत के साथ ही वहा काम करने वाले एक स्टाफ विपिन को भी काम से निकाला गया था | हत्या की वारदात के बाद पुलिस ने विपिन को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है | घटना के बाद मुखिया और उसका स्टाफ सन्नी पूरा परिवार के साथ फरार हो गया है | वही गोपालपुर थाने में मृतक के परिजनों ने मुखिया रामनाथ यादव , स्टाफ सन्नी के खिलाफ हत्या में नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई है | गोपालपुर थानेदार अलोक कुमार ने बताया की मुखिया के दफ्तर में लगा और आस पास के इलाके मे लगा सीसीटीवी फुटेज खंगाला जा रहा है लेकिन दफ्तर वाले सीसीटीवी का पासवर्ड लॉक है |रविकांत के सर पर ईंट या किसी भारी वस्तु से प्रहार किया गया है | पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद हत्या की स्थिति स्पशट हो पायेगी | पुलिस हत्या के कारणों का पता लगाने में जुटी है | एक लड़का विपिन को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है | मृतक रविकांत मुखिया और सन्नी सहित अन्य मोबाइल का कॉल डिटेल्स खंगाला जा रहा है.

उधर रविकांत की हत्या के बाद परिजनो का रो रो कर बुरा हाल हो रहा था | उसके पिता अनिल पंडित और चाचा कर परिवार मूर्ति बनाने का काम करते हैं | बेटे की खून सनी लाश देख माँ सुधा देवी , पिता अनिल पंडित , छोटा भाई कर्ण कुमार , चचेरा भाई सन्नी सहित पूरा परिवार का रो रो कर बुरा हाल हो रहा था | परिजनों में महिलाए रोते हुए मुखिया पर ही हत्या करने का आरोप लगा रही थी