बिहार

गर्भवती महिला व बच्चों की सेहत व सुरक्षा के लिहाज से टीकाकरण जरूरी

अररिया, रंजीत ठाकुर। जिले में मिशन इंद्रधनुष 0.5 अभियान सोमवार से शुरू हुआ। जिले के सभी प्रखंडों में इसे लेकर विशेष कार्यक्रम आयोजित किये गये। जहां स्थानीय जनप्रतिनिधि व वरीय स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा इसका विधिवत उद्घाटन किया गया। इसे लेकर रानीगंज के धामा पंचायत अंतर्गत मिडिल स्कूल धामा में स्वास्थ्य मेला का आयोजन किया गया। जहां वरीय स्वास्थ्य अधिकारियों की मौजूदगी में स्थानीय मुखिया मिन्नतुल्लाह रहमानी उर्फ मिन्नत ने अभियान का उद्घाटन किया। इस क्रम में स्थानीय मुखिया ने ग्रामीणों को बढ़चढ़ कर अभियान में भाग लेते हुए अपने बच्चों को टीकाकृत कराने की अपील की।

मौके पर सिविल सर्जन डॉ विधानचंद्र सिंह, डीआईओ डॉ मोईज, डीपीएम संतोष कुमार, एसएमओ डब्ल्यूएचओ डॉ शुभान अली, एसएमसी यूनिसेफ आदित्य कुमार, एमओआईसी रानीगंज डॉ रोहित कुमार, बीएचएम प्रेरणा रानी वर्मा, बीसीएम राजा वसीम सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण मौजूद थे।

16 सितंबर तक संचालित होगा अभियान का पहला चरण


सिविल सर्जन ने बताया कि अभियान का पहला चरण 16 सितंबर तक संचालित है। टीकाकरण से वंचित बच्चों की ड्यूलिस्ट तैयार की गयी है। इसके मुताबित शतप्रतिशत गर्भवती महिलाएं व बच्चों का टीकाकरण प्रमुखता के आधार पर किया जाना है। उन्होंने गर्भवती महिला व बच्चों की सेहत व सुरक्षा के लिहाज से टीकाकरण को महत्वपूर्ण बताया।


गर्भवती महिला व पांच साल तक बच्चों का टीकाकरण का लक्ष्य –

Advertisements
Ad 2


अभियान की जानकारी देते हुए जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ मोईज ने बताया कि मिशन इंद्रधनुष 5.0 के पहले चरण में अररिया व फारबिसगंज शहरी क्षेत्र में कुल 52 सेशन साइट निर्धारित हैं। वहीं ग्रामीण इलाकों में कुल 1040 साइट पर सत्र संचालित होगा। अभियान के क्रम में दो वर्ष से कम उम्र के कुल 15 हजार 13 बच्चे टीकाकरण के लिये लक्षित हैं। वहीं 02 से 05 साल के 04 हजार 334 बच्चे लक्षित हैं। नौ माह से दो वर्ष तक के 03 हजार 221 बच्चों को एमआर-1 व 02 हजार 847 बच्चों को एमआर-2 का टीका लगाया जाना है।

वहीं अभियान के क्रम में 03 हजार 598 गर्भवती महिलाओं को टीकाकृत करने का लक्ष्य है।

फारबिसगंज ग्रामीण व रानीगंज प्रखंड में सबसे अधिक सत्र


मिशन इंद्रधनुष 5.0 की सफलता के लिये फारबिसगंज ग्रामीण में कुल 165 सत्र बनाये गये हैं। वहीं रानीगंज प्रखंड में 141 सत्र संचालित होगा। इसके अलावा अररिया ग्रामीण में 126, भरगामा में 79, जोकीहाट में 165, कुर्साकांटा में 72, नरपतगंज में 115, पलासी में 113, सिकटी में 67 टीकाकरण सत्र संचालित किये जायेंगे। छह दिवसीय अभियान के पहले दिन जिले में 151 सत्र, दूसरे दिन 85 सत्र, तीसरे दिन 337 सत्र, चौथे दिन 131 सत्र, पांचवें दिन 289, छठे व अंतिम दिन 47 सत्र संचालित किये जायेंगे।

Related posts

सीटी स्कैन सेंटर से अब तक लाभान्वित हो चुके हैं 30 हजार से अधिक लोग

जिले के 51 टीबी मरीजों को पौष्टिक आहार सेवन के लिए किया गया फूड वितरण

अभियान 40 आईएएस करेंट अफेयर्स पत्रिका का लोकार्पण